मप्र : बच्चे 8.5 साल की उम्र में सीख रहे सिगरेट पीन

मप्र : बच्चे 8.5 साल की उम्र में सीख रहे सिगरेट पीन

भोपाल। मप्र में बच्चों में नशे की लत तेजी से बढ़ रही है। इसका खुलासा ग्लोबल यूथ टोबैको सर्वे में हुआ है। सर्वे भारत सरकार द्वारा कराया गया था। सर्वे में पता चला कि मप्र में कई लड़कियां 7 साल की उम्र में सिगरेट, तो 13 साल में बीड़ी पीना सीख लेती हैं। मप्र में लड़कियों द्वारा पहली बार बीड़ी पीने की उम्र राष्ट्रीय स्तर से कहीं कम है। मप्र में बच्चों की सिगरेट शुरू करने की औसत उम्र 8.5 साल है। देश में यह उम्र 11.5 वर्ष है। सर्वे के मुताबिक प्रदेश में 2.10 फीसदी लड़कियां सिगरेट पीती हैं। वहीं 2.40 प्रतिशत लड़के सिगरेट का नशा करते हैं। ये जानकारी उमंग स्कूल हेल्थ एंड वेलनेस कार्यक्रम में एनएचएम की एमडी प्रियंका दास ने दी। स्वास्थ्य मंत्री डॉ. प्रभुराम चौधरी ने ग्लोबल यूथ टोबैको सर्वे की रिपोर्ट जारी की। 13 से 15 साल की उम्र के किशोरों पर तंबाकू उत्पादों के उपयोग पर यह सर्वे केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के निर्देश पर इंटरनेशल इंस्टीट्यूट आॅफ पॉपुलेशन साइंसेज मुंबई ने किया था। सर्वे में प्रदेश के 21 सरकारी और 13 निजी स्कूलों को शामिल किया गया। सर्वे में 2,979 छात्र शामिल हुए थे।

विज्ञापनों से मिली तंबाकू की जानकारी

सर्वे में पता चला कि बच्चे तंबाकू के साथ बीड़ीसि गरेट से विज्ञापनों के माध्यम से परिचित होते हैं। करीब 60 फीसदी बच्चे विज्ञापन देखकर इसके सेवन के बारे में सोचते हैं। वहीं 52 फीसदी अपने आसपास के लोगों को सेवन करते देखकर सीखते हैं। वहीं राष्ट्रीय औसत क्रमश: 66.70 फीसदी और 63 फीसदी है।

प्रदेश में औसतन 3.7 %111बच्चे करते हैं धूम्रपान

तंबाकू उत्पाद का सेवन करने वाले बच्चे प्रदेश में 3.90 फीसदी बच्चे किसी न किसी रूप में तंबाकू का उपयोग करते हैं। इनमें 3.50 फीसदी लड़कियां तो 4.40 फीसदी लड़के शामिल हैं। प्रदेश में 3.20 फीसदी लड़कियां धूम्रपान करती हैं, वहीं 4.20 फीसदी लड़के इस लत के शौकीन हैं। प्रदेश में औसतन 3.70 फीसदी बच्चे धूम्रपान करते हैं।

तंबाकू सेवन में मप्र का देश में 29वां स्थान

रिपोर्ट में अच्छी बात यह है कि तंबाकू के सेवन में प्रदेश की स्थिति बेहतर है। राज्यों की फेहरिस्त मप्र में 29वें नंबर पर है। मप्र में महज 3.9 प्रतिशत युवा ही तंबाकू उत्पादों का प्रयोग करते हैं। देश में सबसे ज्यादा तंबाकू का सेवन मिजोरम मे होता है, यहां 57.9 प्रतिशत युवा तंबाकू उत्पादों का सेवन करते हैं।