शहरों को भविष्य के मुताबिक बनाना जरूरी

शहरों को भविष्य के मुताबिक बनाना जरूरी

पटना । पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा,आत्मनिर्भर भारत मिशन को गति देने के लिए आत्मनिर्भर बिहार, विशेषकर देश के छोटे शहरों को भविष्य की जरूरतों के मुताबिक तैयार करना बहुत जरूरी है। मोदी ने मंगलवार को वीसी के माध्यम से केंद्र की नमामि गंगे और अमरुत योजना से संबंधित बिहार में 543.28 करोड़ की 7 परियोजनाओं का उद्घाटन और शिलान्यास करने के बाद कहा कि शहरी गरीबों और शहर में रहने वाले मध्यम वर्ग के लोगों का जीवन आसान बनाने वाली इन नई सुविधाओं के लिए वह सभी को बधाई देते हैं। आत्मनिर्भर भारत मिशन को गति देने आत्मनिर्भर बिहार विशेषकर देश के छोटे शहरों को वर्तमान ही नहीं भविष्य की जरूरतों के मुताबिक तैयार करना बहुत जरूरी है।

 बेहतर माहौल निर्मित हो 

अमरुत मिशन के तहत बिहार के अनेक शहरों में जरूरी सुविधाओं के विकास के साथ ईज ऑफ  लिविंग और ईज आॅफ डूइंग बिजनेस के लिए बेहतर माहौल तैयार करने पर बल दिया जा रहा है। पीएम ने कहा कि शहरीकरण आज के दौर की सच्चाई है। भारत भी इस वैश्विक बदलाव का अपवाद नहीं है, पर कई दशकों से हमारी मानसिकता बन गई और मान लिया कि शहरीकरण खुद में एक बड़ी समस्या है।

 शहरीकरण में अवसर भी 

पीएम ने कहा कि यदि शहरीकरण समस्या लगती है, तो उसमें अवसर भी उपलब्ध हैं। उन्होंने कहा कि बाबा साहेब भीमराव अंबेडकर ने तो उस दौर में ही इस सच्चाई को समझ लिया था और वह शहरीकरण के बड़े समर्थक थे। उन्होंने शहरीकरण को समस्या नहीं माना। उन्होंने तो ऐसे शहरों की कल्पना की थी, जहां गरीब से गरीब व्यक्ति को भी अवसर मिले और जीवन को बेहतर करने के रास्ते खुले।