ड्रग को ब्रेन में पहुंचने से पहले ही रोक देगी नई वैक्सीन

ड्रग को ब्रेन में पहुंचने से पहले ही रोक देगी नई वैक्सीन

वाशिंगटन। वैज्ञानिकों ने एक ऐसी वैक्सीन बनाई है जो फेंटानील नामक घातक ड्रग से होने वाले नुकसान को पूरी तरह से रोक देगी। अमेरिका में इस नशे के ओवरडोज से हर साल हजारों लोगों की मौत हो जाती है। वैक्सीन के इस्तेमाल से ऐसे लोगों को बचाया जा सकेगा। टेक्सास स्थित ह्यूस्टन विवि के रिसर्चर्स ने चूहों पर इस वैक्सीन का प्रयोग किया है। वैक्सीन ने चूहे के ब्रेन में ड्रग को पहुंचने से रोक दिया।

पेनकिलर्स नहीं सिर्फ घातक ड्रग पर दिखाएगी 

फेंटानील एक ऐसा घातक नशा है जिसके ओवरडोज से ब्रेन में आॅक्सीजन की कमी हो जाती है, परिणाम स्वरूप मस्तिष्क की कोशिकाएं मर जाती हैं। इस वैक्सीन की एक अन्य विशेषता यह है कि दूसरे पेनकिलर्स जैसे मॉर्फिन को प्रभावित किए बिना अपना असर दिखा सकती है। यानी जिस व्यक्ति को वैक्सीन लगी है वह जरूरत पड़ने पर दर्दनिवारक दवाओं का उपयोग कर सकता है।

नशीले पदार्थ को किडनी से बाहर कर देगी : यह वैक्सीन इम्यून सिस्टम में टी-सेल को एंटीबॉडीज बनाने के लिए प्रोत्साहित करती है, जिसके कारण फेंटानील ब्लडस्ट्रीम में ही बंध कर रह जाता है। ये एंटीबॉडीज ड्रग को व्यक्ति के ब्लड में ही पकड़ लेते हैं तथा उसे आगे बढ़ने और नुकसान पहुंचाने से रोक देते हैं। वैक्सीन ड्रग को किडनी से निकाल देती है।

नशे के ओवरडोज से अमेरिका में रोज 200 मौतें

अमेरिका वर्तमान में फेंटाइल ड्रग की महामारी से जूझ रहा है तथा रोज लगभग दो सौ लोगों की मौत इस ड्रग के कारण हो रही है। फेंटाइल को पेनकिलर के रूप में अस्पतालों में उपयोग करने के लिए डेवलप किया गया था। लेकिन इसकी निर्माण लागत सस्ती होने तथा नशे की मात्रा अत्यधिक होने के कारण यह ड्रग डीलरों के बीच दवा से ज्यादा नशे के लिए लोकप्रिय हो गई है। इससे यह अमेरिका में जानलेवा भी बन चुकी है।111

नमक के पांच दानों के बराबर मात्रा ही ओवरडोज

मेथ, कोकीन तथा स्ट्रीट एक्सनाक्स कुछ ऐसे ड्रग्स हैं जिनमें फेंटानील का इस्तेमाल होता है। इसकी महज दो मिलीग्राम या नमक के पांच दानों के बराबर मात्रा ही ओवरडोज के लिए काफी है। ह्यूस्टन के रिसर्चर्स को उम्मीद है कि उनकी यह वैक्सीन देश में चल रही नशे के ओवरडोज के संकट से मुक्ति दिला कर हजारों लोगों की जान बचाने में मददगार होगा। उनका मानना है कि वैक्सीन से लोगों को घातक नशे की लत से भी बचाया जा सकेगा।