रेत खदानों में मशीन नहीं, मजदूरों से लें काम

 04 Jun 2020 02:00 AM  3

भोपाल। कृषि मंत्री कमल पटेल ने बुधवार को मंत्रालय में जबलपुर और नर्मदापुरम संभाग में खनिज के उत्खनन के संबंध में खनिज विभाग के अधिकारियों के साथ समीक्षा की। उन्होंने अधिकारियों को निर्देशित किया कि रेत खदानों में अधिक से अधिक मजदूरों को लगा कर उन्हें रोजगार दिया जाए। रेत खदानों में मशीन से कार्य कराया जाना प्रतिबंधित करें। उन्होंने कहा कि ड्रोन कैमरे से रेत खदानों की वीडियोग्राफी कराई जाए। किसी भी हालत में मशीनों से उत्खनन न हो। नर्मदा किनारे डम्पर या मशीनें पाये जाने पर मालिकों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई जाये। उन्होंने सरकार की खनिज नीति का पालन कराये जाने के भी निर्देश दिये। कृषि मंत्री ने कहा कि खदानों से रॉयल्टी पर आरटीओ से अनुमति प्राप्त वाहनों से ही परिवहन होना भी सुनिश्चित किया जाये।

निजी भूमि की रेत किसान बेच सकेंगे : संचालक खनिज विनीत कुमार आस्टिन से कहा कि जिन खेतों में पानी के बहाव से रेत आ जाती है, उन खेत मालिकों को रेत के विक्रय अधिकार संबंधी प्रावधान किये जायें। खनिज नीति में इसके लिये आवश्यक बदलाव प्रस्तावित करें।