कोरोना से जंग में अब सीएम-मंत्री देंगे वेतन-भत्तों से 30% राशि

कोरोना से जंग में अब सीएम-मंत्री देंगे वेतन-भत्तों से 30% राशि

भोपाल। कोरोना से लड़ाई में अब मुख्यमंत्री सहित सभी मंत्री अपने वेतन-भत्ते का 30 प्रतिशत हिस्सा सीएम रिलीफ फंड में जमा करेंगे। सीएम शिवराज सिंह चौहान ने शुक्रवार को अस्पताल से वीडियो कॉन्फे्रंसिंग के जरिए सभी मंत्रियों से बात करने के बाद यह निर्णय लिया। सीएम ने कहा कि वह मुख्यमंत्री का पद ग्रहण करने की तारीख से 30 सितंबर तक अपने वेतन एवं भत्तों की 30 प्रतिशत राशि कोरोना कार्य के लिए सीएम रिलीफ फंड में जमा कराएंगे। इसके बाद उन्होंने एक लाख 40 हजार रुपए जमा भी करा दिए। सीएम ने कहा कि एक अगस्त से ‘संकल्प की चेन जोड़ो, संक्रमण की चेन तोड़ो’ अभियान भी चलाया जाएगा। इधर, पीडब्ल्यूडी मंत्री गोपाल भार्गव ने इसका स्वागत करते हुए कहा कि वह एक साल के वेतन में से एकमुश्त 30 प्रतिशत राशि जल्द ही जमा कराएंगे। सीएम ने कहा कि मंत्रियों को जिलों के प्रभार अगले सप्ताह तक आवंटित कर दिए जाएंगे।

मंत्रियों के वेतन-भत्ते से जमा होंगे 37 लाख

कैबिनेट मंत्री

कैबिनेट मंत्री को वेतन-भत्ते के रूप में हर माह 1.50 लाख रुपए मिलते हैं। इसका 30 प्रतिशत यानी 45,00 0 रुपए के हिसाब से तीन माह का एक लाख 35 हजार रुपए उन्हें सीएम रिलीफ फंड में जमा करना होगा। कुल 25 कैबिनेट मंत्री हैं, इस तरह कुल 33 लाख 75 हजार रुपए जमा होंगे।

राज्यमंत्री

राज्य मंत्री को हर माह 1 लाख 35 हजार रुपए वेतन-भत्ता मिलता है। कुल आठ राज्य मंत्री हैं। इस तरह 30 प्रतिशत के हिसाब से उनके वेतन से तीन माह में 3 लाख 24 हजार रुपए सीएम रिलीफ फंड में जमा होंगे। कैबिनेट व राज्यमंत्रियों दोनों को मिलाकर 36 लाख 99 हजार रुपए जमा होंगे।

खनिज निधि का एक तिहाई होगा खर्च

यह भी निर्णय लिया गया है कि प्रदेश के 22 जिलों में जिला खनिज निधि में मिलने वाली करीब 500 करोड़ की राशि का एक तिहाई इन जिलों में कोरोना संबंधी कार्यों और गरीबों के लिए रोजगार मूलक कार्यों में खर्च किया जाएगा। संबंधित जिले के प्रभारी मंत्री के अनुमोदन से यह राशि स्वीकृत होगी। विधायक निधि का भी उपयोग होगा : विधायक भी अपनी निधि का उपयोग अपने क्षेत्र में कोरोना नियंत्रण संबंधी कार्यों के लिए कर सकेंगे। निधि का उपयोग मेडिकल स्टाफ के लिए आवश्यक उपकरण, फेस मास्क, थर्मामीटर, पीपीई किट्स, टेस्टिंग किट, वेंटिलेटर, सेनेटाइजर आदि खरीदने के लिए किया जाएगा।