कोरोना रिपोर्ट निगेटिव आने पर ही खिलाड़ियों को ग्राउंड में मिली एंट्री

कोरोना रिपोर्ट निगेटिव आने पर ही खिलाड़ियों को ग्राउंड में मिली एंट्री

भोपाल। लॉकडाउन के पांचवें चरण में मिली ढील के साथ ही राजधानी में सोमवार से खेल की वापसी हो गई है। टीटी नगर स्टेडियम की क्रिकेट एकेडमी के खिलाड़ियों ने अंकुर और ओल्ड कैम्पियन ग्राउंड में क्रिकेट की प्रैक्टिस शुरू कर दी है। अंकुर अकादमी में खिलाड़ियों को पहले अपनी कोरोना की निगेटिव जांच रिपोर्ट जमा की। इसके बाद क्रिकेट प्रैक्टिस की अनुमती दी गई। ओल्डकैम्पियन में भी खिलाड़ी थर्मल स्क्रीनिंग और सेनेटाइज कर प्रैक्टिस शुरू की गई। खेल एंव युवाकल्याण के उप संचालक जोस चाको ने बताया की हमने कोच सहीत 13 खिलाड़ियों ने कोविड- 19 की जांच करवाई है। इसमें से सोमवार को 8 लोगों की रिपोर्ट नेगेटिव आने पर मैदान में क्रि केट प्रैक्टिस की अनुमती दी गई है। इसमें कोच ज्योति प्रकाश त्यागी खिलाड़ी दीपक देशमुख, राहुृल बाथम, मन दुबे, शाश्वत भदौरिया, प्रतीक मिश्रा, कनिष्क दुबे, प्रख्यात पासी, विशाल आहूजा शामिल थे और पांच अन्य खिलाड़ियों की जांच रिपोर्ट मंगलवार तक आएगी। कोच खिलाड़ियों को सरकार और खेल विभाग द्वारा जारी गाइडलाइन के अनुसार ही टेनिंग दे रहे हैं। हमने सभी खिलाड़ियों की ग्राउंड में एंट्री पर थर्मल स्क्रीनिंग की और सभी को सेनेटाइज किया है।

खिलाड़ियों कोे गाइडलाइन के अनुसार ही करा रहे प्रैक्टिस

कोच ज्योति प्रकाश त्यागी ने कहा की हमें जिस तरह की गाइडलाइन मिली हैं, हम उसी के आधार पर खिलाड़ियों को खेल की टेÑनिंग दे रहे हैं। सभी से टेनिंग के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करवाया जा रहा है। यह भी ध्यान रख जा रहा है कि खिलाड़ी टेनिंग के दौरान मास्क का उपयोग कर रहे हैं या नहीं, अपनी खेल सामग्री (किट) को खेल से पहले और खेल के बाद सेनेटाइज कर रहे या नहीं। इसी के साथ नेट प्रैक्टिस के दौरन भी एक नेट में कोच और एक खिलाड़ी ही होगा।

वापस मैदान पर आकर बहुत अच्छा लग रहा है

खिलाड़ी मन दुबे ने कहा की कोरोना के कारण हमारी क्रिकेट की प्रैक्टिस बंद हो गई थी और अब फिर से ग्राउंड में आने पर बहुत अच्छा लग रहा है। कोरोना के बाद क्रिकेट बदल गया है। कोच ने हमें नए नियम बताए हैं। हम उसी के अनुसार प्रैक्टिस कर रहे हैं। कोई भी खिलाड़ी दूसरे खिलाड़ी के सामान का उपयोग नहीं कर रहा है। सभी सोशल डिस्टेंसिंग का पलन कर रहे हैं। घर में हमारी प्रैक्टिस सही तरीके से नहीं हो रही थी, लेकिन अब ग्राउंड में हम फिर से खेल शुरू कर सकते हैं।