खुलासा :मोदी समेत 10 हजार भारतीय शख्सियतों की जासूसी कर रहा है चीन

खुलासा :मोदी समेत 10 हजार भारतीय शख्सियतों की जासूसी कर रहा है चीन

नई दिल्ली ।  चीन की एक कंपनी 10 हजार भारतीय लोगों और संस्थाओं पर नजर रखे हुए है। जुनख्वा डेटा इंफोर्मेशन टेक्नॉलॉजी को लिमिटेड नाम की ये कंपनी शेनजेन में स्थित है और इसके संबंध चीन की सरकार और चाइनीज कॉम्युनिस्ट पार्टी से हैं। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और उनके परिवार, ममता बनर्जी, अशोक गहलोत, नवीन पटनायक, उद्धव ठाकरे से लेकर कैबिनट मंत्री राजनाथ सिंह, रवि शंकर प्रसाद, निर्मला सीतारमण, स्मृति इरानी इसकी निगरानी सूची में शामिल हैं। इतना ही नहीं, चीफ आॅफ डिफेंस स्टाफ बिपिन रावत, आर्मी, नेवी और एयरफोर्स के 15 प्रमुखों से लेकर मुख्य न्यायाधीश शरद बोबडे, लोकपाल पीसी घोष, कैग प्रमुख जीसी मुर्मु, ह्यभारत पेह्ण के संस्थापक निपुण मेहरा, उद्योगपति रतन टाटा और गौतम अडानी को भी ये कंपनी मॉनिटर कर रही है। इनके अलावा कई बड़े पद वाले नौकरशाह, जज, वैज्ञानिक, पत्रकार, कार्यकर्ता और धार्मिक शख्सियतों पर भी नजर रखी जा रही है। ये कंपनी खुद दावा करती है कि ये चीन की खुफिया एजेंसी, सेना और सुरक्षा एजेंसियों के साथ काम करती है। इस संबंध में जब दिल्ली स्थित चीनी दूतावास के एक सूत्र से सवाल किया तो जवाब आया कि चीन ने किसी कंपनी या व्यक्ति से दूसरे देशों के डेटा या इंटेलिजेंस के बारे में जानकारी ना ही मांगी है और न मांगेगा।

 सोशल मीडिया पर उपलब्ध डेटा पर कंपनी की नजर 

सूत्रों के मुताबिक, चीनी कंपनी ने केवल सोशल मीडिया पर उपलब्ध डेटा का यूज किया है और उनका विश्लेषण किया है। अंग्रेजी अखबार इंडियन एक्सप्रेस ने अपनी रिपोर्ट में दावा किया है कि चीन की झेनझुआ डाटा इन्फॉर्मेशन टेक्नोलॉजी करीब दस हजार भारतीयों का डाटा इकट्ठा कर रहा है। इसमें सोशल मीडिया पर हरकत से लेकर लाइक और कमेंट तक, उनकी होने वाली उपस्थिति तक शामिल है।

चीन के साथ मिली है कंपनी

इंडियन एक्सप्रेस ने दावा किया है कि इस पूरी जांच के लिए शेनजान इन्फॉर्मेशन टेक्नोलॉजी फर्म ने चीनी सरकार और कम्युनिस्ट पार्टी के साथ मिलकर ओवरसीज का इन्फॉर्मेशन डाटा बेस बनाया है, जिसके तहत इस मिशन का पूरा काम होता है। कंपनी की ओर से कलेक्ट किए जा रहे इस डाटा को चीनी कंपनियां हाइब्रेड वॉर का नाम देती हैं, जो किसी के बारे में जानकारी जुटाने को मिशन बना देती हैं। इंडियन एक्सप्रेस ने खुलासा किया है कि नेताओं के अलावा सचिन तेंदुलकर जैसे खिलाड़ी, गौतम अडानी जैसे बिजनेसमैन, फिल्म डायरेक्टर श्याम बेनेगल, सोनल मानसिंह, राधे मां जैसी हस्तियों पर भी चीन की नजर है।

 दूसरे देशों के लोगों पर नजर

चाइनीज इंटेलीजेंस के लिए काम करने का दावा करने वाली ये कंपनी दूसरे देशों के लोगों पर नजर रखती है। इसमें राजनीति, सरकार, टेक्नोलॉजी, मीडिया, फिल्म समेत कई अन्य क्षेत्रों के लोगों और संस्थानों की निगरानी की जाती है। इसके तहत जुनख्वा कंपनी किसी भी व्यक्ति का डिजिटल फुटप्रिंट फॉलो करती है। इसमें सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म के डेटा, इन्फॉर्मेशन लाइब्रेरी को तैयार किया जाता है।