वर्ष 2026-27 तक ईवी खंड की राजस्व हिस्सेदारी 50% तक होगी

वर्ष 2026-27 तक ईवी खंड की राजस्व हिस्सेदारी 50% तक होगी

मुंबई। वाहन प्रौद्योगिकी फर्म सोना कॉमस्टार को उम्मीद है कि उसके कारोबार में इलेक्ट्रिक वाहन (ईवी) खंड की राजस्व हिस्सेदारी वित्त वर्ष 2026-27 तक बढ़कर 50 प्रतिशत के करीब हो जाएगी। सोना कॉमस्टार के प्रबंध निदेशक एवं समूह सीईओ विवेक विक्रम सिंह ने कहा है कि ईवी के लिए ऑर्डर काफी मजबूत हैं। उन्होंने बताया कि कंपनी के ईवी खंड की राजस्व हिस्सेदारी जून तिमाही में बढ़कर 29 फीसदी हो गई, जो वित्त वर्ष 2014- 15 में महज दो फीसदी थी। सिंह ने कहा, हमारी कुल ऑर्डर बुक का 66 प्रतिशत ईवी खंड से संबंधित है। लिहाजा यह (ईवी खंड का राजस्व) अगले तीन-चार वर्षों में निश्चित रूप से कुल राजस्व का 45 प्रतिशत होना चाहिए। सिंह ने आगे कहा कि अगर भारत में इलेक्ट्रिक दोपहिया खंड शुरू होता है तो ईवी खंड की राजस्व हिस्सेदारी अधिक होगी।

मारुति का चालू वित्त वर्ष में 20 लाख वाहनों के उत्पादन का लक्ष्य

नई दिल्ली। देश की सबसे बड़ी कार विनिर्माता मारुति सुजुकी इंडिया ने सेमीकंडक्टर की आपूर्ति में सुधार से चालू वित्त वर्ष में करीब 20 लाख इकाइयों के उत्पादन का लक्ष्य रखा हुआ है जिसके लिए वह अपने उत्पादन में बढ़ोतरी भी करेगी।

ऑटो उद्योग को त्योहारी सत्र में कारों की बिक्री तेज होने की उम्मीद

नई दिल्ली। ऑटो उद्योग को उम्मीद है कि इस त्योहारी सत्र में नई पेशकश और उत्पादन बढ़ने से कारों की बिक्री तेजी से होगी। हालांकि, त्योहारों के बाद उद्योग कारोबार को लेकर सतर्क रूप से आशावादी है।