मानसून में शहर से 50 KM ‘की दूरी के स्पॉट्स पर एंजॉय कर रहे राइडर्स

मानसून में शहर से 50 KM ‘की दूरी के स्पॉट्स पर एंजॉय कर रहे राइडर्स

कोरोना के चलते पिछले दिनों लोगों के जीवन पर बहुत सारी बंदिशे लग गई थीं, लेकिन अब अनलॉक-4 में घूमने-फिरने के शौकीन कुछ राहत महसूस कर रहे हैं । वे दूर तो नहीं जा पा रहे , लेकिन शहर के आसपास के इलाकों की हरियाली के बीच ट्रिप प्लान कर पा रहे हैं। सिटी के कुछ ग्रुप्स ने साइकिल से सांची तक रोड प्लान की तो किसी ने बाइक से हलाली डैम तक का सफर किया। इन ट्रिप की वजह से महीनों बाद दोस्त एक-दूसरे से मिल कर एंजॉय कर सके।

कठोतिया में देखा खूबसूरत झरना

साइकिलिस्ट नितिन राठौर ने बताया कि अभी हाल ही में कुछ दिन पहले अपने दोस्त शिवम दुबे और राज गुप्ता के साथ साइकिल से कठोतिया जंगल गए थे। तकरीबन 50 किमी राइड को काफी एंजॉय किया। इस जगह को फ्रेंड्स के साथ इसलिए भी चुना कि यहां का झरना देखने लायक है। साथ ही नेचर लवर होने के नाते यह जगह मुझे बेहद पसंद है। हम तीनों ने लगभग तीन साल से साइकिल चला रहे हैं। वैसे भी मैं रोजाना कोलार में बोरदा से शाहपुरा तक 20 किमी साइकिल चलाता हूं।

साइकिल से सांची का सफर

क्लब पैडल्स साइकिल ग्रुप के मेंबर दिव्यम बाहेती ने बताया कि हम लोगों ने अनलॉक के बाद पहली लॉन्ग ट्रिप की। यह ट्रिप भोपाल से सांची फिर उदयगिरि गुफा से विदिशा से भोपाल तक की थी। इस ट्रिप में मेरे साथ सात साइकिलिस्ट ने भी हिस्सा लिया। यह टोटल ट्रिप 148 किमी की रही, जिसमें हर्षित बिष्ट, आकाश अग्रवाल, वरुण गुप्ता, नितेश विश्वकर्मा, प्रशांत पारे और विकास मेहरा शामिल रहे। ट्रॉपिक आॅफ कैंसर पर फोटो सेशन कराया जो यादगार रहेगा।

बाइक से गए हलाली डैम

एवेंजर्स बाइक ग्रुप के मेंबर दिव्यराज भदौरिया ने बताया कि अनलॉक के बाद इस ग्रुप की पहली रोड ट्रिप है। बहुत समय से प्लान किया जा रहा था कि जब भी पूरी तरह से अनलॉक होगा तो सबसे पहले बाइक्स से किस जगह पर जाएंगे और आपसी सहमति के बाद हलाली डैम फाइनल किया गया। इस डैम में वॉटर फॉल बहुत खूसबसूरत है और उतना रिस्की नहीं हैं इसलिए इसे चुना। ग्रुप में आकाश बालकृष्णा, संदीप राठी, जीतेंद्र भोड़के, सुनील कुमार , मनन शील, अंचल चौबे और अनुज रिछारिया ने इस ट्रिप को एन्जॉय किया।