निर्यातक लक्ष्य तय करें, उसे हासिल करने के लिए सरकार को सुझाव दें

निर्यातक लक्ष्य तय करें, उसे हासिल करने के लिए सरकार को सुझाव दें

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को निर्यातकों और उद्योग जगत से अपने लिए दीर्घकालिक निर्यात लक्ष्य तय करने तथा इसे हासिल करने के लिये सरकार को जरूरी सुझाव देने को कहा। उन्होंने वाणिज्य और उद्योग मंत्रालय के नए परिसर - वाणिज्य भवन का उद्घाटन करने के मौके पर कहा कि निर्यात किसी देश को विकासशील से विकसित बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। मोदी ने कहा कि पिछले वित्त वर्ष के दौरान वैश्विक स्तर पर विभिन्न बाधाओं के बावजूद देश का निर्यात (वस्तु एवं सेवा) 670 अरब डॉलर (50 लाख करोड़ रुपए) रहा। उन्होंने कहा कि देश का वस्तु निर्यात 2021-22 में 418 अरब डॉलर (31 लाख करोड़ रुपए) से ऊपर रहा जबकि लक्ष्य 400 अरब डॉलर (30 लाख करोड़ रुपए) था। उन्होंने कहा, पिछले साल की इस सफलता से उत्साहित होकर, हमने अब अपने निर्यात लक्ष्यों को बढ़ा दिया है और उन्हें प्राप्त करने के अपने प्रयासों को दोगुना कर दिया है। इस नये लक्ष्य को हासिल करने के लिए सभी का सामूहिक प्रयास बहुत जरूरी है...। प्रधानमंत्री ने कहा, उद्योग, निर्यातक और निर्यात संवर्धन परिषद के प्रतिनिधि यहां हैं। मैं उनसे अपने लिये न केवल अल्पकालिक बल्कि दीर्घकाालिक निर्यात लक्ष्य भी निर्धारित करने का आग्रह करूंगा। उन्होंने कहा कि नए वाणिज्य भवन से व्यापार, वाणिज्य और एमएसएमई (सूक्ष्म, लघु एवं मझोले उद्यम) क्षेत्र से जुड़े लोगों को काफी फायदा होगा। प्रधानमंत्री ने एक नये पोर्टल...निर्यात... का शुभारंभ भी किया। उन्होंने कहा कि निर्यात पोर्टल सभी संबंधित पक्षों को महत्वपूर्ण आंकड़े बिना किसी विलंब के मुहैया कराएगा। निर्यात (व्यापार के सालाना विश्लेषण के लिए राष्टय आयात-निर्यात रिकॉर्ड) पोर्टल के जरिए संबंधित पक्षों को एक जगह पर भारत के विदेश व्यापार से संबंधित सभी जरूरी जानकारी मिल सकेगी। उन्होंने कहा कि सरकार कारोबार सुगमता और निर्यात बढ़ाने के लिये काम कर रही है। हथकरघा जैसे नये घरेलू उत्पाद नए बाजारों में पहुंच रहे हैं।