जेल की रोटी खाने से सिद्धू का इंकार सलाद खाकर गुजारी रात

जेल की रोटी खाने से सिद्धू का इंकार सलाद खाकर गुजारी रात

पटियाला। रोडरेज केस में पटियाला सेंट्रल जेल में बंद नवजोत सिद्धू ने जेल में दाल रोटी खाने से इनकार कर दिया। उन्होंने सिर्फ सलाद और फ्रूट खाकर पहली रात जेल में गुजारी। पटियाला जेल में सिद्धू कैदी नंबर 241383 बन गए हैं। कैदी नंबर अलॉट होने के बाद उन्हें बैरक नंबर 10 में शिμट किया गया है। यहां उन्हें हत्या के मामले में सजा काट रहे 8 कैदियों के साथ रखा गया है। बैरक में सिद्धू की पहली रात सीमेंट से बने थड़े पर गुजरी। सिद्धू को सुप्रीम कोर्ट ने 34 साल पुराने 1988 के रोड रेज मामले में एक साल बामशक्कत कैद की सजा सुनाई है। शुक्रवार शाम को पटियाला सेशन कोर्ट में सरेंडर के बाद पहले सिद्धू का मेडिकल कराया गया। इसके बाद उन्हें पटियाला सेंट्रल जेल भेज दिया गया। जानकारी के मुताबिक, सिद्धू को शुक्रवार शाम को सवा सात बजे जेल मैनुअल के हिसाब से दाल-रोटी दी गई, हालांकि उन्होंने सेहत का हवाला देते हुए इसे खाने से इनकार कर दिया। उन्होंने सिर्फ सलाद और फ्रूट ही खाया।

स्पेशल डाइट की मांग की

सिद्धू को गेहूं से एलर्जी है। उन्हें लीवर की प्रॉब्लम है। इसे देखते हुए सिद्धू ने जेल प्रशासन से स्पेशल डाइट की मांग की है। सिद्धू के मीडिया सलाहकार सुरिंदर डल्ला ने कहा कि सिद्धू को गेहूं से एलर्जी है। वह गेहूं की रोटी नहीं खा सकते। लंबे समय से वह रोटी नहीं खा रहे हैं, इसलिए उन्होंने स्पेशल डाइट मांगी है। उन्होंने मेडिकल के दौरान भी यह जानकारी दी थी।

जेल में मिला है ये सामान

सिद्धू को जेल प्रशासन की ओर से कुछ सामान दिया गया है। सिद्धू को एक कुर्सी- टेबल, एक आलमारी, 2 पगड़ी, एक कंबल, एक बैड, तीन अंडरवियर और बनियान, 2 टॉवल, एक मच्छरदानी, एक कॉपी-पैन, जूतों की जोड़ी, 2 बैडशीट, दो तकिया कवर और 4 कुर्ते-पायजामे दिए गए हैं। जेल में सिद्धू को कैदियों वाले सफेद कपड़े ही पहनने होंगे।