चंडीगढ़ वीडियो केस में छात्रा और 2 युवक गिरफ्तार कैम्पस में प्रदर्शन

चंडीगढ़ वीडियो केस में छात्रा और 2 युवक गिरफ्तार  कैम्पस में प्रदर्शन

चंडीगढ़। मोहाली स्थित चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी की 60 छात्राओं के नहाते वक्त वीडियो बनाकर वायरल करने पर रविवार को दिन भर हंगामा हुआ। छात्राओं ने पुलिस और यूनिवर्सिटी प्रबंधन पर मामले को दबाने का आरोप लगाते हुए प्रदर्शन किया। इसके बाद यूनिवर्सिटी को दो दिनों के लिए बंद कर दिया गया। इस मामले में यूनिवर्सिटी की ही एक एमबीए छात्रा और शिमला निवासी उसके बॉयफ्रेंड सनी मेहता (23) और रंकज (31) को गिरμतार किया गया है। छात्रा भी हिमाचल ही रहने वाली है। पुलिस का दावा है कि छात्रा के पास से कोई आपत्तिजनक वीडियो नहीं मिला है। उसके फोन में उसका ही एक वीडियो मिला है, जो उसने अपने बॉयफ्रेंड को भेजा था। मामले की जांच के लिए एसआईटी का गठन किया गया है।

मामला दबाने का आरोप लगाकर भड़की थी छात्राएं

इस मामले के सामने आने के बाद हॉस्टल की 8 छात्राओं ने खुदकुशी की कोशिश की खबरें सामने आई थीं। हालांकि मोहाली के पुलिस प्रमुख विवेक सोनी का कहना है कि सुसाइड की खबर अफवाह है। उन्होंने बताया कि छात्रा का मोबाइल फोन फॉरेंसिक जांच के लिए भेजा गया है। इसके बाद छात्राएं भड़क गर्इं और प्रदर्शन शुरू कर दिया। देर शाम सूत्रों के मुताबिक, छात्राओं ने पुलिस और यूनिवर्सिटी प्रशासन से शनिवार रात हुए मामले की पारदर्शी जांच, शनिवार को हुए लाठीचार्ज की जांच, अस्पताल में भर्ती स्टूडेंट्स को मुआवजा देने, गर्ल्स हॉस्टल का टाइम 8:30 से बढ़ाकर 9:30 बजे तक करने और हॉस्टल के सभी वॉर्डन बदलने की मांग रखी है। प्रशासन ने इनकी मांग मान ली है।

क्या है मामला

शनिवार रात यूनिवर्सिटी कैम्पस में कुछ छात्राओं ने यह कहते हुए हंगामा किया कि हॉस्टल की एक छात्रा ने 60 लड़कियों का नहाते वक्त का वीडियो बनाकर वायरल कर दिया। चार लड़कियों ने आरोप लगाया था कि उन्होंने आरोपी लड़की को कॉमन वॉशरूम में वीडियो बनाते हुए देखा था। इसके बाद छात्रों का प्रदर्शन शुरू हो गया था।