दक्षिण अफ्रीका से सीरीज जीतने के इरादे से उतरेगी टीम इंडिया

दक्षिण अफ्रीका से सीरीज जीतने के इरादे से उतरेगी टीम इंडिया

गुवाहाटी। तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह के चोटिल होने से भारतीय टीम का संतुलन गड़बड़ा गया है, लेकिन इसके बावजूद वह दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ रविवार को होने वाले दूसरे टी20 अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट मैच में अपना विजय अभियान जारी रखकर सीरीज में अजेय बढ़त हासिल करने की कोशिश करेगी। बुमराह की ऑस्ट्रेलिया में होने वाले टी20 विश्वकप में भूमिका अहम होती, लेकिन इस तेज गेंदबाज का पीठ की परेशानी के कारण अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) की इस प्रतियोगिता में खेलना संदिग्ध है। दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ सीरीज का आयोजन विश्वकप से पहले टीम की तैयारियों को मूर्तरूप देने के लिए किया गया था, लेकिन बुमराह की अनुपस्थिति ने मुख्य कोच राहुल द्रविड़ और कप्तान रोहित शर्मा के सामने कई सवाल खड़े कर दिए हैं।

भारतीय टीम में सिराज और उमेश की हुई इंट्री

मोहम्मद सिराज और उमेश यादव को भारतीय टीम में शामिल किया गया है, लेकिन अभी यह दोनों विश्व कप की टीम में नहीं हैं। सबसे बड़ा सवाल यह है कि क्या टीम प्रबंधन को बुमराह की जगह लिए गए गेंदबाज को आजमाने का पर्याप्त मौका मिलेगा। विश्वकप के लिए स्टैंडबाई में शामिल अनुभवी तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी कोविड-19 से उबर रहे हैं और दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ सीरीज के लिए टीम में शामिल नहीं हैं। उन्हें ऑस्ट्रेलिया जाने वाली टीम में शामिल किया जा सकता है क्योंकि उन्हें वहां की परिस्थितियों में खेलने का अनुभव है। यदि ऐसा होता है तो उन्हें 16 अक्टूबर से शुरू होने वाले विश्व कप से पहले मैच अभ्यास का पर्याप्त मौका नहीं मिलेगा। दक्षिण अफ्रीकी सीरीज के लिए भारत के पास दीपक चाहर हैं जो विश्व कप के लिए स्टैंडबाई हैं।

पहले मैच में चाहर, अर्शदीप ने किया था शानदार प्रदर्शन

तिरुअनंतपुरम में पहले मैच में चाहर और बाएं हाथ के युवा तेज गेंदबाज अर्शदीप सिंह ने शानदार गेंदबाजी करके दक्षिण अफ्रीका का शीर्ष क्रम झकझोर दिया था, जिससे भारत ने इस मैच में जीत दर्ज करके तीन मैचों की सीरीज में 1-0 से बढ़त बनाई, लेकिन ऑस्ट्रेलिया में गेंद अधिक स्विंग नहीं करेगी और चाहर भी भुवनेश्वर कुमार जैसे ही गेंदबाज हैं। भुवनेश्वर को अर्शदीप के साथ विश्वकप टीम में जगह मिली हुई है। जहां तक सिराज का सवाल है वह पिछले कुछ समय से जूझ रहे हैं। भुवनेश्वर और हर्षल पटेल पिछले कुछ समय से काफी रन लुटा रहे हैं और देखना होगा की टीम प्रबंधन विश्वकप से पहले इस पहेली को कैसे सुलझाता है।

दोनों टीमों के संभावित खिलाड़ी

भारत: रोहित शर्मा (कप्तान), केएल राहुल, विराट कोहली, सूर्यकुमार यादव, ऋषभ पंत, दिनेश कार्तिक, रविचंद्रन अश्विन, युजवेंद्र चहल, अक्षर पटेल, अर्शदीप सिंह, हर्षल पटेल, दीपक चाहर, उमेश यादव, श्रेयस अय्यर, शाहबाज अहमद और मोहम्मद सिराज। दक्षिण अफ्रीका: तेम्बा बावुमा (कप्तान), क्विंटन डिकॉक, ब्योर्न फोर्टुइन, रीजा हेंड्रिक्स, हेनरिक क्लासेन, मार्को जानसेन, केशव महाराज, एडेन मार्कराम, डेविड मिलर, लुंगी एनगिडी, एनरिक नोर्किया, वेन पार्नेल, एंडिले फेहलुकवायो, ड्वेन प्रिटोरियस, कैगिसो रबाडा, रिली रोसो, तबरेज शम्सी, ट्रिस्टन स्टब्स।

कोहली सहित ऊपर के चारों बल्लेबाज फॉर्म में

बल्लेबाजी विभाग में विश्वकप से पहले विराट कोहली सहित भारत के चोटी के चार बल्लेबाज अच्छी फॉर्म में दिख रहे हैं। केएल राहुल ने भी अब रन बनाना शुरू कर दिया है और पहले मैच में अर्धशतक जड़ने से उनका आत्मविश्वास बढ़ा होगा। मध्यक्रम में हालांकि ऋषभ पंत और दिनेश कार्तिक जैसे खिलाड़ियों को बल्लेबाजी का पर्याप्त मौका नहीं मिला है। पंत को एशिया कप से लौटने के बाद बल्लेबाजी का मौका नहीं मिला, जबकि कार्तिक ने पिछले सात मैचों में केवल नौ गेंदों का सामना किया है। जहां तक सीरीज की बात है तो भारत खेल के इस सबसे छोटे प्रारूप में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ घरेलू धरती पर पहली सीरीज जीतने की कोशिश करेगा।