4 साल की उम्र से नर्मदा स्वच्छता की शपथ दिला रही तेजस्विनी

4 साल की उम्र से नर्मदा स्वच्छता की शपथ दिला रही तेजस्विनी

जबलपुर। आज मैं यह शपथ लेती हूं कि मां नर्मदा जी के पवित्र जल में कोई भी अपशिष्ट पदार्थ, कूड़ा-कचरा प्रवाहित नहीं करूंगी। मां नर्मदा तट को और अपने नगर को स्वच्छ तथा सुंदर बनाए रखने के लिए सहयोग करूंगी। आज लिए गए संकल्प का जीवन पर्यंत निर्वाहन करूंगी। यह शपथ नर्मदा मां की हर दिन होने वाली महाआरती के बाद 11 साल की तेजस्विनी दुबे दिलाती हैं। तेजस्विनी ने चार साल की उम्र से ही स्वच्छता अभियान में शामिल होकर शपथ दिलाना शुरू कर दिया था। तेजस्विनी के पिता का दावा है कि वह अब तक सीएम शिवराज सिंह चौहान, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह, राज्यपाल समेत कई केंद्रीय मंत्री, न्यायाधीशों समेत लगभग 30 लाख लोगों को शपथ दिला चुकी हैं। शपथ लेने वाले लोग नर्मदा तट पर गंदगी नहीं कर रहे हैं।

4 बार पंचक्रोशी और एक बार नर्मदा परिक्रमा की तेजस्विनी

अपने माता-पिता के साथ बचपन से ही पंचक्रोशी और नर्मदा परिक्रमा करती रही हैं। वह अब तक लगभग चार बार पंचक्रोशी और एक बार नर्मदा परिक्रमा कर चुकी है। परिक्रमा के दौरान जिस शहर में रुकी, महाआरती के बाद शपथ दिलाकर लोगों को मां नर्मदा तट को स्वच्छ रखने के लिए जागरूक किया। तेजस्विनी बचपन से ही नर्मदा के घाट पर आकर पूजा करती थी। उसके मन में हमेशा सेवा का भाव रहा है।

चार साल की उम्र में कहा था शपथ दिलाना चाहती है

तेजस्विनी के पिता ओमकार ने बताया कि 4 साल की उम्र में उसने जिद की थी कि वह शपथ दिलाना चाहती है। उस समय कई बड़े संत महाआरती में शामिल हुए थे। जब संतों को यह बात पता चली तो उन्होंने बच्ची का समर्थन किया और तेजस्विनी से ही शपथ दिलाने के लिए कहा। सीएम शिवराज सिंह भी तेजस्विनी के काम से प्रभावित हुए और उसे सम्मानित भी कर चुके हैं। वह यूट्यूब के जरिए भी अभियान चला रही है।