बच्चों में लंबे समय रह सकता है कोविड का प्रभाव

बच्चों में लंबे समय रह सकता है कोविड का प्रभाव

नई दिल्ली। वयस्कों की तरह बच्चों में भी कोविड के कुछ लक्षण लंबे समय तक बने रहने का जिक्र करते हुए विशेषज्ञों ने कहा कि इसमें घबराने की कोई बात नहीं है, हालांकि, उन्होंने शुरूआती दौर में ही उपचार की आवश्यकता पर बल दिया। लांसेट चाइल्ड एंड एडोलसेंट हेल्थ जर्नल में हाल में प्रकाशित एक अध्ययन के मुताबिक, सार्ससीओवी- 2 वायरस से संक्रमित बच्चों में कम से कम दो महीने तक कोविड के लक्षण बरकरार रह सकते हैं। 14 साल तक के बच्चों में लंबे समय तक कोविड के प्रभाव के संबंध में डेनमार्क में किए गए अध्ययन में यह निष्कर्ष सामने आया है। इंडियन स्पाइनल इंजरीज सेंटर के डॉ. कर्नल विजय दत्ता के मुताबिक, बच्चों में लंबे समय तक कोविड के प्रभाव की समस्या के बारे में पहले से ही जानकारी उपलब्ध है। हम वयस्कों की तरह बच्चों में भी लंबे समय तक कोविड के प्रभाव को देख रहे हैं। वयस्कों की तरह ही बच्चों में भी श्वसन प्रणाली संबंधी समस्याओं के अलावा बार-बार होने वाले निमोनिया का सामना करना पड़ रहा है। फोर्टिस मेमोरियल रिसर्च इंस्टिट्यूट के डॉ. कृष्ण चुग ने कहा कि इसमें घबराने की कोई बात नहीं है। बच्चों के तीनों समूह - तीन साल से कम, 4 से 11 साल और 12- 14 साल - में संक्रमण की पुष्टि होने के बाद इस बात की काफी संभावना है कि दूसरे और तीसरे महीने में इनमें कम से कम एक लक्षण बरकरार रहे।

देश में कोरोना संक्रमण के 11,739 नए मामले दर्ज

देश में पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस संक्रमण के 11,739 नए मामले सामने आए हैं। जिससे संक्रमितों की कुल संख्या बढ़कर 4,33,89,973 हो गई है। केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय की ओर से रविवार को जारी आंकडों के अनुसार पिछले 24 घंटों में चार लाख 53 हजार 940 कोरोना टेस्ट किए गए जिससे अब कुल टेस्ट की संख्या 86.07 करोड़ हो गई है तथा 12,72,739 टीके लगाए गए हैं जिससे इनकी संख्या बढ़कर 1,97,08,51,580 हो गई।