UPSC क्रैक नहीं कर सकी युवती तो कार पर एसडीएम लिखवाकर पहुंच गई शादी में, पुलिस यूनिफॉर्म से पकड़ा गया ड्राइवर, खुला झूठ

UPSC क्रैक नहीं कर सकी युवती तो कार पर एसडीएम लिखवाकर पहुंच गई शादी में, पुलिस यूनिफॉर्म से पकड़ा गया ड्राइवर, खुला झूठ

भोपाल। कई सालों से यूपीएससी की तैयारी में जुटी युवती ने रिश्तेदारों को बता दिया था कि उसने परीक्षा क्रैक कर ली है और इस समय वह एसडीएम है। झूठ को सही साबित करने के लिए युवती ने भोपाल में रिश्तेदार की शादी में आने से पहले न सिर्फ किराए की टैक्सी में एसडीएम लिखवा लिया, बल्कि ड्राइवर को भी पुलिस की यूनिफॉर्म पहना दी। लेकिन पुलिस अधिकारियों के संदेह के बाद यह झूठ खुल गया। मिसरोद पुलिस ने ड्राइवर के खिलाफ शासकीय सेवक का पदनाम रखने और धोखाधड़ी की कोशिश करने का मामला दर्ज कर लिया है। मंगलवार को होशंगाबाद रोड स्थित वृंदावन गार्डन में ज्योतिषाचार्य विमल शर्मा के परिवार में शादी का कार्यक्रम था। उनके यहां राज्यपाल मंगुभाई पटेल समेत कई राजनेता और वीवीआईपी पहुंचे थे। इसी कार्यक्रम में इंदौर निवासी युवती भी पहुंची थी। युवती शादी वाले परिवार की करीबी रिश्तेदार है। युवती जिस कार से आई थी, उसका ड्राइवर पार्किंग में ही खड़ा था और वीवीआईपी लोगों के आगे-पीछे घूम रहा था। युवक सर्दी में पहना जाने वाला पुलिस का अंगोला पहने था और उस पर मप्र पुलिस का बैच और बेल्ट भी था। यह देखकर पुलिस अधिकारियों को शंका हुई तो उससे पूछताछ की। पहले तो वह गुमराह करता रहा, लेकिन बाद में उसने बताया कि इंदौर निवासी युवती के कहने पर उसने वर्दी खरीदी थी, ताकि युवती एसडीएम और वह उसका अंगरक्षक लग सके। उसने कार के आगे-पीछे भी एसडीएम लिखवा लिया था।

युवती ने किराए पर ली थी इनोवा कार

पकड़े गए युवक का नाम सोहित कुमार मोरछले (23) है। युवती उसे दस हजार रुपए किराया देकर कार लेकर भोपाल आई थी। सोहित का कहना है कि युवती के कहने पर ही उसने कार पर एसडीएम लिखवाया था और वर्दी खरीदी थी। हालांकि पुलिस ने युवती से पूछताछ की तो पहले तो उसने रौब झाड़ने का प्रयास किया, ड्राइवर को पहचानने से इंकार कर दिया। कहा जा रहा है कि पुलिस ने रसूखदारों के दबाव में उसके खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की।