71 साल में पहली बार दो सेट गंवाने के बाद थीम ने जीता यूएस ओपन खिताब

71 साल में पहली बार दो सेट गंवाने के  बाद थीम ने जीता यूएस ओपन खिताब

न्यूयॉर्क । दुनिया के नंबर-3 टेनिस खिलाड़ी डोमिनिक थीम यूएस ओपन के नए चैम्पियन बने। वे यूएस ओपन सिंगल्स का खिताब जीतने वाले ऑस्ट्रेलिया के पहले खिलाड़ी हैं। कोरोना संक्रमण के बीच यह उनका पहला ग्रैंड स्लैम टाइटल है। उन्होंने फाइनल में जर्मनी के एलेक्जेंडर ज्वेरेव को 2-6, 4-6, 6-4, 6-3, 7-6(6) से हराया। 71 साल बाद यूएस ओपन के फाइनल में पहले दो सेट गंवाने के बाद किसी खिलाड़ी ने खिताब पर कब्जा जमाया। इससे पहले पांचो गोंजालेज ने 1949 में यह कारनामा किया था। पहली बार विजेता का फैसला टाइब्रेकर के जरिए हुआ। 27 साल के थीम यह ग्रैंड स्लैम जीतने वाले पहले नए खिलाड़ी हैं। 2014 में मारिन सिलिच ने ऐसा किया था। तब क्रोएशिया के इस खिलाड़ी ने यूएस ओपन के फाइनल में जापान के केई निशिकोरी को हराया था। इससे पहले, थीम 3 ग्रैंड स्लैम का फाइनल हारे थे। उन्हें इस साल ऑस्ट्रेलियन ओपन में नोवाक जोकोविच ने हराया था।

थीम ने मेदवेदव को हराया था 

ज्वेरेव ने सेमीफाइनल में स्पेन के पाब्लो कैरेनियो बुस्टा को 3-6,2-6, 6-3, 6-4, 6-3 से हराया था, जबकि ऑस्ट्रेलिया के डॉमिनिक थीम ने दूसरे सेमीफाइनल में रूस के डेनियल मेदवेदव को 6-2, 7-6, 7-6 से हराया था। थीम दो साल पहले फ्रेंच ओपन के फाइनल में राफेल नडाल से हारे थे, जबकि इस साल  ऑस्ट्रेलियन ओपन के फाइनल में उन्हें वर्ल्ड नंबर-1 नोवाक जोकोविच ने शिकस्त दी थी।

 टूर्नामेंट में17 साल में पांचवीं बार नया चैम्पियन मिला 

यूएस ओपन को 17 साल में पांचवां नया विजेता मिला। 2004 से 2019 के बीच 16 सालों में ब्रिग थ्री जोकोविच, फेडरर और नडाल ने ही 12 खिताब जीते। बाकी चार मौकों पर जुआन मार्टिन डेल पोत्रो (2009), एंडी मरे (2012), मारिन सिलिच (2014) और स्टेन वावरिंका (2016) में चैम्पियन बने थे। 2004 से 2008 तक फेडरर ने लगातार पांच साल तक खिताब अपने नाम किया। वहीं, नडाल ने 4 बार 2010, 2013, 2017, 2019 में यह टूर्नामेंट जीता। जोकोविच ने 2011, 2015 और 2018 में यूएस ओपन पर कब्जा जमाया था। 

 ज्वेरेव ने फाइनल में कड़ी टक्कर दी 

23 साल के ज्वेरेव पिछले 10 साल में ग्रैंड स्लैम फाइनल खेलने वाले सबसे युवा खिलाड़ी थे। लेकिन उन्हें हार का सामना करना पड़ा। इससे पहले, सेमीफाइनल में उन्होंने स्पेन के पाब्लो कैरेनियो बुस्टा को दो सेट से पिछड़ने के बाद 3-6,2-6, 6-3, 6-4, 6-3 से हराया था। ज्वेरेव के करियर में पहली बार ऐसा हुआ, जब दो सेट में पिछड़ने के बाद उन्होंने मैच जीता।