मानसून विदाई से पहले अपर ककैटो ककैटो, पेहसारी व तिघरा डेम खाली

मानसून विदाई से पहले अपर ककैटो ककैटो, पेहसारी व तिघरा डेम खाली

ग्वालियर। मानसून रवानगी के ठीक पहले बदले तेवरों के चलते ग्वालियर अंचल में बारिश न होने पर हड़कंप मच गया है। क्योंकि बारिश न होने से तिघरा का जल स्तर 737.25 पर आकर ठहर गया है, तो ओव्हर फ्लो से भरने वाले पेहसारी डेम 3.80 फुट, ककैटो 3.50 फुट व अपर ककैटो भी 6 फुट खाली रह गए है। साथ ही जल संसाधन विभाग इन डेमों को भरने की संभावना पर मनाही कर रहा है। मानसून के आगाज होने के बाद भी तिघरा का जल स्तर 16 जुलाई के बाद 730 से 731 फुट के बीच ऊपर नीचे होने का क्रम में झूलता रहा। लेकिन बीते 20-25 दिन के अंदर हुई बारिश ने तिघरा कैचमेंट एरिया घाटीगांव में अच्छी तरह से दस्तक दी है। जिसके चलते तिघरा बांध का जल स्तर बढ़कर 737.25 फुट तक पहुंच गया और इस पानी के आने के बाद अगले साल भर का पेयजल डैम में हो गया है। लेकिन बारिश का क्रम थमने पर मंगलवार की शाम तक जल स्तर पर 737.25 फुट देखा गया। हालांकि शहर को पेयजल सप्लाई के चलते तिघरा व मोतीझील प्लांट से प्रतिदिन 8 एमसीएफटी पानी (प्रतिदिन 185 एमएलडी)(5.24 अरब लीटर) की सप्लाई जारी है।

अपर ककैटो डेम रह गया है 6 फुट खाली

बारिश होने के बाद भी अपर ककैटो डेम सबसे ज्यादा खाली था। भराव झमता 1231.90 फुट होने पर अभी जलस्तर 1207 फुट है और डेम अपने अधिकतम जलभराव से लगभग 6 फुट खाली है।

ककैटो डेम भी है मात्र 3.10 फुट खाली

ककैटो डेम का अधिकतम जलभराव स्तर 1124.50 फुट के स्थान पर 1120.40 फुट पानी आ चुका है और डेम अपने अधिकतम जलस्तर से मात्र 3.10 फुट खाली है।

पेहसारी डेम लबालब होने को, 3.80 फुट ही खाली

पेहसारी डेम का अधिकतम जलस्तर 1097 का पीछा करते हुए वर्तमान जल स्तर 1093.20 फुट पर पहुंच चुका है और डेम के लबालब होने की स्थिति में मात्र 3.80 फुट ही खाली है। कैचमेंट एरिया में बारिश का दौर थमा हुआ है। जिससे अपर ककैटो, ककैटो, पेहसारी व तिघरा का जल स्तर बढ़ना ठहर गया है। एमएल साहू, कार्यपालन यंत्री, जल संसाधन विभाग