वायरल ऑडियो पर मचा बवाल, लगे आरोप प्रत्यारोप

 11 Jun 2020 08:28 AM  3

इंदौर ।  सांवेर विधानसभा क्षेत्र के भाजपा कार्यकर्ताओं के साथ बैठक में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह का कथित ऑडियोवायरल होने से प्रदेश की राजनीति में बवाल आ गया है। गुरुवार सुबह पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने यहां पे्रस कॉन्फ्रेंस में दावा किया कि ऑडियो क्लिप में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह की आवाज है, जिसमें वे कह रहे हैं कि - केंद्रीय नेतृत्व ने तय किया कि यह सरकार गिरना चाहिए। ऑडियो में वे कहते सुने जा रहे हैं कि ‘भाजपा केंद्रीय नेतृत्व ने तय किया था कि यह (कांग्रेस) सरकार गिरनी चाहिए, नहीं तो ये बर्बाद कर देगी, तबाह कर देगी। ऑडियो मे आगे वे कहते हैं कि-आप बताओ ज्योतिरादित्य सिंधिया और तुलसी भाई के बिना सरकार गिर सकती थी क्या? और कोई तरीका नहीं था। धोखा न तुलसी सिलावट ने दिया और न ज्योतिरादित्य सिंधिया ने दिया। धोखा कांग्रेस ने दिया।’ आठ जून को मुख्यमंत्री ने रेसीडेंसी कोठी में सांवेर में होने वाले उप चुनाव को लेकर भाजपा कार्यकर्ताओं की बैठक की थी।

 ईमानदारी से बताओ...तुलसी नहीं जीते तो क्या मैं सीएम रहूंगा?

ऑडियो के अनुसार शिवराज सिंह चौहान ने कार्यकर्ताओं से पूछा कि ‘ईमानदारी से बताओ तुलसी सिलावट यदि विधायक नहीं तो हम मुख्यमंत्री रहेंगे क्या? भाजपा की सरकार बचेगी क्या? इसलिए आपकी ड्यूटी है कि आप लोग तुलसी सिलावट को जिताओ, क्योंकि सांवेर से तुलसी सिलावट नहीं मैं खुद चुनाव लड़ रहा हूं। ये भाजपा की आन-बान और शान का सवाल है।’

 स्पष्ट हो गया मेरी सरकार को गिराने किस तरह का खेल रचा ‘

मैं तो शुरू के दिन से ही कह रहा था कि भाजपा ने मेरी बहुमत व जनादेश प्राप्त सरकार को जान- बूझकर साजिÞश- षड्यंत्र व प्रलोभन का खेल रच गिराया है। सच्चाई प्रदेश की जनता के सामने आ गई कि मेरी सरकार को गिराने के लिए किस तरह की साजिश व खेल रचा गया। - (कमल नाथ का ट्वीट)

कांग्रेस का माफी मांगे: भाजपा

कांग्रेस के पास अब कोई काम नहीं बचा है। ऑडियो  और वीडियो को इधर से काटना, उधर जोड़ना। भानुमति का कुनबा बनाना और जनता के बीच में भ्रम फैलाना। प्रदेश और देश का वातावरण खराब करना। अच्छा होगा कांग्रेस अपने पापों के लिए प्रायश्चित्त करे और मप्र की जनता से माफी मांगे वरना। लोकेन्द्र पाराशर, प्रदेश मीडिया प्रभारी