बीएमएचआरसी को मेडिकल कॉलेज के रूप में विकसित करेंगे : मांडविया

बीएमएचआरसी को मेडिकल कॉलेज के रूप में विकसित करेंगे : मांडविया

भोपाल। भोपाल मेमोरियल हॉस्पिटल एंड रिसर्च सेंटर (बीएमएचआरसी) में अगले कुछ वर्षों में एमबीबीएस का कोर्स शुरू किया जाएगा। फिलहाल यहां फार्मकोलॉजी और एनेस्थिसिया में पीजी कोर्स संचालित किया जा रहा है। अब इसका दायरा बढ़ाया जाएगा। यह बात केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया ने रविवार को बीएमएचआरसी और एम्स का निरीक्षण करने के बाद कही। एम्स के दौरे के बाद उन्होंने मीडिया से चर्चा में कहा कि एक तरफ जहां हम बीएमएचआरसी को मेडिकल कॉलेज के रूप में विकसित करने जा रहे हैं। वहीं एम्स में खाली पड़े डॉक्टरों के पद जल्द से जल्द भरने की कोशिश में हैं। निरीक्षण के दौरान स्वास्थ्य मंत्री डॉ. प्रभुराम चौधरी और चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग मौजूद थे।

माना बीएमएचआरसी की हालत खराब

मंत्री ने माना कि गैस पीड़ितों के लिए बनाए गए बीएमएचआरसी की हालत बदतर है। जिस उद्देश्य के लिए इस संस्थान को बनाया गया था, वह पूरा नहीं हो पा रहा है। बीएमएचआरसी प्रबंधन के साथ समीक्षा बैठक में उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार भोपाल गैस पीड़ितों के लिए चिंतित है। उनकी सभी समस्याओं को दूर करने के लिए प्रयास किए जा रहे हैं और बहुत जल्द नई योजनाएं भी तैयार की जाएंगे। गौरतलब है कि मांडविया का यह भोपाल एम्स और बीएमएचआरसी का पहला दौरा था।