राज्यसभा चुनाव में जीत के बाद तीनों नेताओं ने बताई प्राथमिकताए

राज्यसभा चुनाव में जीत के बाद तीनों नेताओं ने बताई प्राथमिकताए

कमल नाथ के नेतृत्व में उपचुनाव जीतना है

 भोपाल । राज्यसभा चुनाव जीतने के बाद पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह ने कहा कि अब पीसीसी अध्यक्ष कमल नाथ के नेतृत्व में 24 सीटों के उपचुनाव में जुटना और सभी सीटों को जीतना प्राथमिकता है। उन्होंने कहा कि हमें कमलनाथ के नेतृत्व में पूरी एकजुटता से भाजपा का मुकाबला करना है। हम सब कमलनाथ के नेतृत्व में एकजुट हैं और उनके साथ कंधे से कंधा मिलाकर खड़े हैं। पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा, हमारे राष्टÑीय नेतृत्व, प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमल नाथ, प्रदेश के सभी वरिष्ठ नेताओं ,प्रदेश के सभी कांग्रेसी विधायकों का और प्रदेश के लाखों कांग्रेस जनों का आभार व्यक्त करता हूं , जिन्होंने मुझ पर विश्वास कर मुझे चुनाव जीतने में सहयोग प्रदान किया।

 पार्टी ने जो जिम्मेदारी सौंपी है, उसे निभाऊंगा 

भोपाल । ज्योतिादित्य सिंधिया ने राज्यसभा चुनाव जीतने के बाद भाजपा के विधायकों एवं पार्टी के शीर्ष नेतृत्व का आभार जताया। सिंधिया ने अपने वीडियों मैसेज में कहा कि आपने मुझे मेरे गृह प्रदेश से राज्यसभा के लिए चुनकर जो जिम्मेदारी सौंपी है, मैं प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के मजबूत नेतृत्व, गृह मंत्री अमित शाह और राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा के मार्गदर्शन में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के साथ मिलकर मप्र की प्रगति और विकास के लिए पूरे सामर्थ्य से निभाउंगा। उन्होंने पार्टी के सभी कार्यकर्ताओं को भी धन्यवाद दिया है। उन्होंने कहा कि कोविड पॉजिटिव होने के कारण मैं आपके समक्ष उपस्थित नहीं हो पाया हूं, लेकिन शीघ्र ही आपके बीच आऊंगा। ईश्वर से कामना है कि आप सभी सुरक्षित रहें, परिवार को भी सुरक्षित रखें।

 बकरियां चराई हैं, गरीबों के लिए अब काम करूंगा

भोपाल । राज्यसभा चुनाव जीतने के बाद सुमेर सिंह सोलंकी ने कहा कि भाजपा के राष्ट्रीय नेतृत्त्व ने मुझे जो मौका दिया, वह हमारे आदिवासी समाज का सम्मान है। भाजपा ही एक ऐसी पार्टी है, जो इस तरह का चमत्कार कर सकती है। मैं पार्टी के विश्वास पर खरा उतरने का प्रयास करूंगा। मैं उच्च शिक्षा से आया हूं, तो मेरी प्राथमिकता शिक्षा को लेकर काम करना होगी। सोलंकी असिस्टेंट प्रोफेसर थे। इस्तीफा देकर राज्यसभा के लिए पर्चा दाखिल किया। सोलंकी ने कहा, मैंने भी बकरियां चराई हैं। गरीबी जीकर आया हूं। अब गरीबों के लिए काम करुंगा। उन्होंने कहा कि मैं किसान परिवार से आता हूं, इसलिए कृषि को लेकर यदि कुछ कर पाया, तो मेरे क्षेत्र की जनता के लिए यह बहुत बड़ा कदम होगा ।