एनटीसीए की गाइडलाइन पर सभी पार्क प्रबंधनों ने भरी हामी

 13 Jun 2020 07:27 AM  3

जबलपुर । मध्य प्रदेश के सभी नेशनल पार्क, टाइगर रिजर्व और अभ्यारण, वन विहार को 15 जून से खोलने की तैयारी शुरू हो गई है। जानकारी अनुसार सभी नेशनल पार्क प्रबंधन, अभ्यारण, वन विहार प्रबंधन ने मुख्यालय द्वारा आगामी दिनों में पार्क खोलने को लेकर कोविड-19 के प्रोटोकॉल के अनुसार व्यवस्थाओं का ब्यौरा भेज दिया है, जिसे में पर्यटन को शुरू करने के लिए तैयार रहने को ग्रीन सिग्नल दिया गया है। उल्लेखनीय है कि राष्ट्रीय बाघ संरक्षण प्राधिकरण (एनटीसीए) की एडवाईजरी द्वारा घोषित गाइड लाइन के अनुरूप विभाग मुख्यालय ने सभी पार्क प्रबंधकों से जानकारी मांगी थी।

जिप्सी में बैठने के ये होंगे नियम

जानकारी के अनुसार एनटीसीए और शासन की एडवाइजरी द्वारा जारी गाइड लाइन के अनुसार एक जिप्सी में चार से अधिक लोगों को सवार नहीं किया जा सकेगा, इसके साथ ही यदि एक ही परिवार के सदस्य हैं, तो इस स्थिति में छह लोगों को सवार करने की अनुमति दी जाएगी। मालूम हो कि पूर्व में जिप्पी में छह लोगों को बैठाने का ही नियम है।

ये है एनटीसीए की गाइडलाइन

एनटीसीए की ओर से टाइगर रिजर्व को पर्यटकों के लिए खोलने के लिए कुछ शर्त व गाइडलाइन भी निर्धारित की है। इनमें पार्क भ्रमण के दौरान वाहन चालकों, पर्यटकों व गाइडों को मास्क पहनना जरूरी होगा। इसके अलावा एनटीसीए की ओर से टाइगर रिजर्व में पूर्व में निर्धारित किए गए वाहनों की संख्या से आधे वाहनों को ही एक बार में टाइगर रिजर्व में प्रवेश की अनुमति दी जाएगी। इसके अलावा पार्क भ्रमण के दौरान प्रवेश व निकास वाले प्वाइंटों पर वाहनों को सेनेटाइज करना जरूरी होगा। इसके अलावा वन विभाग को जंगल में कई स्थानों पर सेनेटाइजर के प्रबंध भी करने होंगे।

इन्हें नहीं मिलेगा प्रवेश

एनटीसीए की ओर से जारी की गई गाइडलाइन में कोरोना संक्रमण की आशंका को देखते हुए टाइगर रिजर्व में फिलहाल दस साल से छोटे और 65 साल से बड़े पर्यटक को प्रवेश की अनुमति नहीं दी जाएगी।

सभी पार्कों ने भेजा ब्यौरा

जानकारी के अनुसार प्रदेश के सभी छह नेशनल पार्कों और भोपाल वन विहार सहित अभ्यारणों के प्रबंधन द्वारा मांगी गई जानकारी का प्रारूप मुख्यायल को भेज दिया है, जिसके अनुरूप आगामी 15 जून से पार्कों के ताले खुलने की संभावनाएं प्रबल हो चली हैं।

सभी पार्कों से एनटीसीए की गाइड लाइन के अनुरूप व्यवस्थाओं का प्रारूप मांगा गया था, जिसमें सभी ने तैयारी और स्थिति भेजी है। सभी पार्क प्रबंधन 15 जून से स्थानीय प्रशासन के सामंजस्य से पर्यटन शुरू करने जा रहे हैं। एसके मंडल, पीसीसीएफ, वाइल्ड लाइफ