बजट 2021-22: वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने किया नई वाहन कबाड़ नीति का एलान, निजी वाहन अब 5 साल ज्यादा चला सकेंगे

 01 Feb 2021 03:17 PM

दिल्ली। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने आम बजट 2021-22 में वाहनों से जुड़ी एक अहम घोषणा की है। उन्होनें नई वाहन कबाड़ नीति के मुताबिक 15 साल पुराने कमर्शियल व्हीकल को स्क्रैप करने की अनुमती दे दी है। इससे इन्हें सड़कों पर चलाने की अनुमति नहीं होगी। पर्सनल व्हीकल के इस अवधि को 20 वर्ष तय किया गया है। 

इससे क्या फर्क पड़ेगा? 
पुरानी गाड़ियां बहुत प्रदूषण फैलाती हैं। इसको नियंत्रित करने के लिए सरकार ने यह कदम उठाया है।  इससे पहले 15 साल पुराने निजी वाहनों को सड़कों से हटा दिया जाता था। निजी वाहनों को 20 साल बाद और कमर्शियल वाहनों को 15 साल बाद इन ऑटोमेटेड फिटनेस सेटर ले जाना होगा। अब इन वाहनों को ऑटोमेटेड फिटनेस सेंटर ले जाया जाएगा। 

सरकार कई दिनों से इस नीति पर काम कर रही थी। बजट सत्र से पहले ही सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी इस नीति को मंजूरी दे दी थी। साथ ही पुराने वाहनों को कबाड़ में देने के बदले नए वाहन खरीदने के लिए सरकार प्रोत्साहन राशि भी देगी। खास बात यह है की यह नीति ना सिर्फ निजी वाहनों पर बल्कि सरकारी और पीएयूवी विभागों की गाड़ियों पर भी लागू होगी। 

कब से लागू होगी यह नीति? 
सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय के इस फैसले के बाद केंद्र, राज्य सरकारों और सार्वजनिक उपक्रमों की कंपनियों में इस्तेमाल होने वाले 15 साल पुराने वाहनों को हटाया जाएगा। कयास लगाए जा रहे हैं कि इस नीति को लेकर अधिसूचना इसके 01 अप्रैल 2022 से लागू होने से पहले ही जारी की जाएगी।