नीदरलैंड के रास्ते भारत आ रही ‘टेस्ला’

 08 Feb 2021 12:19 AM

नई दिल्ली। दुनिया के सबसे बड़े रईस एलन मस्क की आॅटो कंपनी टेस्ला ने भारत में निवेश के लिए नीदरलैंड का रास्ता चुना है। इसके पीछे कंपनी का मकसद टैक्स बचाना है। टेस्ला ने भारत में टेस्ला मोटर्स एंड एनर्जी इंडिया के नाम से रजिस्ट्रेशन कराया है, जिसकी पैरेंट कंपनी टेस्ला मोटर्स एम्सटर्डम है। विशेषज्ञों के मुताबिक भारत में इस कॉर्पोरेट स्ट्रक्चर से कंपनी को कैपिटल गेंस व डिविडेंड पेमेंट्स में टैक्स की बचत होगी। एमजी मोटर्स ने 2017 में चीन के जरिए भारत में एंट्री मारी थी। उसकी पैरेंट कंपनी एसएआईसी मोटर्स चीन की है। इसी तरह ‘किया मोटर्स’ दक्षिण कोरिया के रास्ते भारत में आई थी, जो उसकी पैरेंट कंपनी ‘किया कॉर्प’ का कॉर्पोरेट होम है। आखिर नीदरलैंड ही क्यों? टेस्ला अमेरिकी प्रांत कैलिफोर्निया में रजिस्टर्ड है, जबकि टेस्ला मोटर्स, नीदरलैंड उसकी सहयोगी कंपनी है। टैक्स जानकारों ने बताया, नीदरलैंड अमेरिका की कंपनियों की पहली पसंद है। इसकी वजह यह है कि वहां टैक्स रेट कम हैं और इंटेलेक्चुअल प्रॉपर्टी (आईपी) का कानून बहुत मजबूत है। डिलॉइट इंडिया में पार्टनर राजेश गांधी ने कहा, मॉरीशस व सिंगापुर के साथ भारत के टैक्स एग्रीमेंट्स में संशोधन के बाद एफडीआई ट्रांजैक्शन पर कैपिटल गेन टैक्स छूट पाने का कोई तरीका नहीं रह गया है। भारत व नीदरलैंड के बीच एग्रीमेंट फायदे का सौदा है, क्योंकि इसमें अगर कोई डच कंपनी भारतीय शेयरों को किसी गैर भारतीय कंपनी को बेचती है तो इस पर कैपिटल गेन टैक्स में छूट मिलती है। कर जानकारों का कहना है कि अगर कोई निवेशक नीदरलैंड के जरिए भारत में आता है तो उसके लिए डिविडेंट टैक्स व विद होल्डिंग टैक्स की दरें कम हैं।

बेंगलुरू में होगा पहला ऑफिस

टेस्ला भारत में लग्जरी इलेक्ट्रिक कारों का निर्माण और कारोबार करेगी। टेस्ला ने पहला आफिस बेंगलुरू में पंजीकृत कराया है। वह बेंगलुरू में एक रिसर्च एंड डेवलपमेंट यूनिट के साथ अपना परिचालन शुरू करेगी। कॉर्पोरेट मामलों के मंत्रालय के अनुसार, टेस्ला 8 जनवरी को बेंगलुरू में पंजीकृत हुई। वैभव तनेजा, वेंकटरंगम श्रीराम व डेविड जॉन फेंस्टीन इसके निदेशक हैं। कंपनी भारत में मॉडल 3 को लॉन्च कर सकती है। साल की पहली तिमाही के अंत में डिलीवरी शुरू हो सकती है। हालिया मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक मस्क स्टेट टैक्स से बचने के लिए अमेरिका के एक राज्य से दूसरे राज्य में शिट होने के बारे में सोच रहे हैं।