तीन साल की बच्ची के अपहरण की खबर के बाद बिना रुके ललितपुर सेभोपाल तक दौड़ी ट्रेन

 27 Oct 2020 12:40 AM

भोपाल । तीन साल की बच्ची का अपहरण करके उसे ट्रेन से ले जाने की सूचना ने रेलवे पुलिस और आरपीएफ की नींद उड़ा दी। यह रिपोर्ट बच्ची की मां ने ललितपुर में दर्ज कराई गई थी, नतीजतन ललितपुर से रवाना हुई राप्तीसागर एक्सप्रेस को रास्ते में कहीं भी नहीं रोकने का मैसेज जारी किया। हालांकि ट्रेन का बीच में कहीं स्टॉपेज नहीं है, लेकिन आउटर पर भी कहीं नहीं रोका गया। करीब चार घंटे बाद जैसे ही ट्रेन भोपाल स्टेशन पहुंची, जीआरपी ने बच्ची और अपहरण करने वाले को पिता को हिरासत में ले लिया। पूछताछ में पता चला कि अपहरण करने वाला कोई और नहीं बल्कि बच्ची का पिता ही था, जो पत्नी से मामूली विवाद के बाद बच्ची को लेकर रवाना हो गया था। बाद में पुलिस ने बच्ची की मां को बुलवाया और पति-पत्नी को समझाइश देकर बच्ची को सौंप दिया गया। दरअसल रविवार की शाम करीब 7 बजे झांसी स्टेशन पर तैनात जीआरपी के उपनिरीक्षक रविन्द्र सिंह राजावत को सूचना मिली कि ललितपुर से एक दुबला-पतला व्यक्ति तीन साल की बच्ची का अपहरण करके राप्ती सागर एक्सप्रेस से भोपाल की तरफ भागा है। यह भी बताया गया कि जिस बच्ची का अपहरण किया गया है, वह गुलाबी रंग की ड्रेस पहने है, जबकि संदिग्ध व्यक्ति ने क्रीम कलर की शर्ट, और काले रंग का लोअर पहन रखा है। अपहरण करने वाले के बारे में जानकारी दी गई थी कि वह नंगे पैर है। पुलिस ने ललितपुर स्टेशन पर लगे सीसीटीवी कैमरों के फुटेज खंगाले तो संदिग्ध व्यक्ति बच्ची के साथ ट्रेन में सवार होते दिखाई दिया, जिसका हुलिया और फोटो समेत अन्य जानकारी भी भोपाल जीआरपी को भेजी गई। मामला बच्ची के अपहरण से जुड़ा होने के कारण रेलवे प्रशासन ने भी ट्रेन को अनावश्यक रूप से कहीं भी नहीं रोकने के निर्देश दिए थे।

पत्नी से झगड़े के बाद बच्ची को लेकर चल दिया था पति 

ललितपुर में बच्ची की मां ने शाम करीब 5 बजे अपहरण की रिपोर्ट दर्ज कराई थी। इसके बाद पुलिस एक्टिव हुई, तब तक ट्रेन ललितपुर से रवाना हो चुकी थी। रात करीब पौने नौ बजे ट्रेन जैसे ही भोपाल स्टेशन के प्लेटफार्म पर आकर रुकी। यहां पहले से तैनात सुरक्षाबलों ने ट्रेन को घेर लिया और संदिग्ध व्यक्ति तथा बच्ची की तलाश शुरू कर दी। कुछ ही देर में बच्ची और उसके साथ मौजूद व्यक्ति को तलाशकर ट्रेन से उतार लिया गया। पूछताछ करने पर पता चला कि तीन साल की बच्ची को उसका पिता ही अपने साथ लेकर ट्रेन में सवार हुआ था। उसके पहले युवक का अपनी पत्नी के साथ झगड़ा हुआ था। बच्ची के मिलने की सूचना तत्काल ही ललितपुर जीआरपी को दी गई, जहां से परिजन को सूचना देते हुए उन्हें भोपाल पहुंचने के लिए कहा गया। सोमवार को बच्ची की मां और उसके परिजन भोपाल पहुंचे। महिला के आने के बाद दंपति की काउंसलिंग की गई। दो घंटे की समझाइश के बाद दोनों के बीच सुलह हो गई। इसके बाद बच्ची को उनके सुपुर्द कर दिया गया। महिला ने बताया कि झगड़े के बाद पति बच्ची को साथ लेकर घर से निकल गया तो उसने अपहरण की सूचना पुलिस को दी थी।

बच्ची परिजन को सौंप दी है

यूपी जीआरपी से सूचना मिली थी कि एक व्यक्ति तीन साल की बच्ची का अपहरण कर राप्ती सागर एक्सप्रेस से भोपाल की तरफ निकला है। ट्रेन के भोपाल रेलवे स्टेशन पहुंचने पर सर्चिंग कराई गई तो बच्ची सकुशल मिल गई। उसे उसका पिता ही लेकर आया था। बाद में बच्ची की मां को बुलाया गया और समझाईश देकर बच्ची को सुपुर्द कर दिया गया। एनके रजक,डीएसपी, रेल, भोपाल