प्लेन हाईजैक की धमकी के बाद कार में बम की सूचना से मचा हड़कंप जांच के बाद झूठी निकली सूचना, आरोपी की तलाश में जुटी पुलिस

 11 Jun 2021 09:57 PM

भोपाल। राजाभोज एयरपोर्ट से प्लेन हाईजैक करने की धमकी देने वाले आरोपी का चार दिन बाद भी पुलिस सुराग नहीं लग पाई है। इधर, गुरुवार की शाम मिसरोद स्थित एक कालोनी की पार्किंग में खड़ी कार के अंदर बम रखा होने की सूचना मिलने के बाद इलाके में हड़कंप मच गया। हालांकि पुलिस टीम ने जब बम डिस्पोजल दस्ते के माध्यम से जांच कराई तो कार में कुछ भी संदिग्ध नहीं मिला। उसके बाद पुलिस ने राहत की सांस ली, लेकिन सूचना देने वाले का फिलहाल कोई सुराग नहीं लग पाया है। पुलिस ने मोबाइल धारक के खिलाफ केस दर्ज कर उसकी तलाश शुरू कर दी है। मिसरोद थाना प्रभारी निरंजन शर्मा के मुताबिक गुरुवार की शाम करीब चार बजे पुलिस कंट्रोल रूम को सूचना मिली कि सलैया स्थित लाइफ स्टाइल ब्लू कालोनी की पार्किग में एक आई-10 कार खड़ी है, जिसके अंदर बम रखा हुआ है। यह सूचना मिलते ही टीआई शर्मा, एसआई प्रकाश राजपूत, एएसआई दिनेश शर्मा समेत बड़ी संख्या में पुलिस बल मौके पर पहुंच गया। बम डिस्पोजल दस्ते को बुलाकर संबंधित कार की जांच कराई गई, लेकिन उसके अंदर बम अथवा अन्य कोई भी संदिग्ध वस्तु नहीं मिली। फोन करने वाले ने लोगों में भय पैदा करने के लिए इस प्रकार की सूचना दी थी, इसलिए पुलिस ने मोबाइल धारक के खिलाफ केस दर्ज कर उसकी तलाश शुरू कर दी है। 
 

कार मालिक का मोबाइल नहीं लगने पर बढ़ी शंका :

बम की सूचना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने वीडीपी पोर्टल के माध्यम से कार मालिक का मोबाइल नंबर निकाला, लेकिन वह नंबर गलत निकला। पुलिस ने रजिस्टर्ड पता निकाला तो वह अशोका गार्डन का निकला। पुलिस की एक टीम कार मालिक के घर पहुंची तो वहां ताला लगा मिला, जिसके बाद पुलिस की शंका बढ़ गई। कार लॉक होने के कारण पुलिस उसका बोनट खोलने का प्रयास कर रही थी, तभी मालिक पहुंच गया। उसने कार खोलकर चैक कराया तो कुछ नहीं मिला। कार  उसके भाई के पास थी, जो उसी कालोनी के फ्लैट में रहता है। 
 

कॉलर से बात करने पुलिस ने रीचाज कराया मोबाइल

बम की सूचना देने वाले कॉलर को पुलिस ने फोन लगाया तो उसने अटैंड नहीं किया। कुछ देर बाद उसका फोन लग नहीं रहा था। पुलिस को लगा कि उसका बैलेंस खत्म हो गया होगा, इसलिए 50 रुपये का रीचार्ज करवाया गया। हालांकि उसके बाद भी कॉलर ने पुलिस से कोई संपर्क नहीं किया। जांच करने पर पता चला कि उक्त नंबर रायपुर स्थित पते पर खरीदा गया था। पुलिस का कहना है कि फोन करने वाला रायपुर का हो सकता है, लेकिन घटनास्थल और कार का नंबर सही बताने से यह स्पष्ट है कि वह भोपाल में ही होगा। पुलिस उसकी तलाश में जुटी हुई है।