भोपाल: एफसीआई क्लर्क किशारे मीणा के पास करोड़ों की संपत्ति मिली, सीबीआई ने 13 ठिकानों पर छापे मारे

 08 Jun 2021 09:08 PM

भोपाल। भारतीय खाद्य निगम (एफसीआई) के गिरफ्तार रिश्वतखोर क्लर्क किशोर मीणा के पास से करोड़ों रुपये की संपत्ति मिली है। सीबीआई ने मंगलवार को मध्य प्रदेश और महाराष्ट्र के 13 ठिकानों पर छापे मारे। यहां बरामद दस्तावेजों के संबंध में पूछताछ के लिए मीणा को 10 जून तक रिमांड पर सौंपा गया है। उसके खिलाफ आय से अधिक संपत्ति का केस दर्ज कर लिया गया है। बाकी तीन रिश्वतखोर न्यायिक हिरासत में हैं। इससे पहले मीणा के घर से तीन करोड़ एक लाख रुपए बरामद किए गए थे। एक अन्य कर्मचारी संदीप कुमार चौधरी के घर से भी नकदी मिली थी।

सीबीआई को पूछताछ में पता चला था कि मीणा ने दो दिसंबर 2016 से 29 मई 2021 तक दो कराेड 93 लाख रुपए का निवेश किया है। इसकी जांच के लिए भोपाल, विदिशा, खंडवा, झाबुआ, नरसिंहपुर, जबलपुर, नांदेड, जलगांव समेत 13 स्थानों पर छापे मारे गए। यहां कुछ निर्माण कंपनियों के परिसर में भी जांच की गई। ये वे स्थान हैं, जिनका मीणा से सीधा संपर्क था या ये लोग किसी न किसी रूप में एफसीआई से संबंधित हैं। यहां से बड़ी संख्या में निवेश से संबंधित दस्तावेज बरामद किए गए हैं। इनके संबंध में पूछताछ जारी है। 

यह है मामला
एफसीआई के डिविजनल मैनेजर हर्ष हिनोनिया, मैनेजर (अकाउंट) अरुण श्रीवास्तव, मैनेजर (सिक्यूरिटी) मोहन पराते और क्लर्क किशोर मीणा को एक लाख रुपए रिश्वत में लेते हुए सीबीआई ने गिरफ्तार किया था। यह कार्रवाई गुरुग्राम स्थित सुरक्षा एजेंसी कैप्टन कपूर एंड संस की शिकायत पर की गई थी। मीणा एफसीआई में बतौर सिक्योरिटी गार्ड भर्ती हुआ था, लेकिन बाद में क्लर्क के रूप में उसकी नियुक्ति हुई। पदोन्न्त होते हुए वह ग्रेड-वन तक पहुंचा था।