कांग्रेस ने पानी में फेंके गैस सिलेंडर, जंगल से लकड़ी बीनी; कहा- अब गरीब उपभोक्ताओं के लिए यही विकल्प बचा है

 06 Mar 2021 08:26 PM

मंदसौर। मंदसौर जिले के मल्हारगढ़ में रसोई गैस सिलेंडर की बढ़ती कीमतों के विरोध में शनिवार को कांग्रेस ने अनूठा प्रदर्शन किया। कांग्रेस कार्यकर्ता ने हाथों में खाली सिलेंडर लिए और जलस्रोत के पास पाकर पानी में फेंक दिया। इसके बाद सभी कार्यकर्ता जंगल की ओर पहुंचे। वहां लकड़ियां बीनी और गट्ठर बनाया। कांग्रेस का कहना था कि बढ़ती महंगाई और रसोई के दाम लगातार बढ़ने से अब यही विकल्प बचा है। आम और गरीब उपभोक्ता परेशान है। आज रसोई गैस के दाम इतने बढ़ गए हैं कि गरीब आदमी सिलेंडर नहीं खरीद पाएगा। सरकार इस तरफ ध्यान नहीं दे रही है।

कांग्रेस का कहना था कि आम आदमी के घरों में अब गैस सिलेंडर की बजाय चूल्हे पर ही रोटियां बनाई जा रही हैं। सरकार ने सिलेंडर के दाम बढ़ाकर गैस को आम लोगों की पहुंच से दूर कर दिया है। ऐसे में उनके सामने सिलेंडर को फेंक कर वैकल्पिक साधनों के उपयोग का ही एकमात्र रास्ता बचा है।

कांग्रेस नेता अनिल शर्मा ने कहा कि सरकार ने आम उपभोक्ताओं के साथ छल किया है। गैस सिलेंडर के साथ-साथ पेट्रोल डीजल के मूल्यों को भी बहुत अधिक बढ़ाया गया है। उनका कहना है कि मोदी सरकार को इस वृद्धि को तुरंत वापस लेना चाहिए।