कोरोना के मरीजों को पीपुल्स मेडिकल कॉलेज में नि:शुल्क इलाज, सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कहा - प्रायवेट अस्पतालों की क्षमता का उपयोग करेगी सरकार 

 08 Apr 2021 04:14 PM

भोपाल। कोरोना के मरीजों को प्रायवेट अस्पतालों में भर्ती होने के लिए अब परेशान नहीं होना पड़ेगा। राजधानी भोपाल में कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने फैसला लिया है कि अब कोविड के पॉजिटिव मरीज भोपाल शहर के पीपुल्स मेडिकल कॉलेज में भर्ती हो सकेंगे। यह बात मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आज गुरूवार को स्मार्टसिटी पार्क में मीडिया से चर्चा के दौरान कही। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार प्रायवेट अस्पतालों की क्षमता का भी उपयोग करेगी। उन्होंने कहा कि हमने टीम के साथ बैठकर फैसला लिया है कि प्रदेश में बिस्तरों की संख्या एक लाख तक की जाएगी। इनमें हर जिले में कोविड केयर सेंटर करने का फैसला लिया गया है। बता दें कि प्रदेश शासन ने मरीजों की बढ़ती संख्या को देखने के बाद पीपुल्स मेडिकल कॉलेज में भी मरीजों के भर्ती होने की सुविधा प्रदान कर दी है। 

 

पीपुल्स और जेके में मिलेगा इलाज
सीएम शिवराज ने कहा कि प्रदेश में बढ़ते मरीजों की संख्या को देखते हुए प्रायवेट सेक्टर की भी मदद ली जा रही है। उन्होंने कहा कि प्रायवेट सेक्टर में हमें जहां बिस्तर मिल रहे हैं वो भी सरकार ले रही है। भोपाल के पीपुल्स और जेके को हमने ले लिया है। इंदौर और अन्य शहरों में भी निर्देश दिए गए हैं कि जहां-जहां हो सके, वहां प्रायवेट अस्पतालों की क्षमता का उपयोग सरकार करेगी। नि:शुल्क उपचार में कई अस्पताल पहले से भरे हुए हैं। अब जहां गुंजाईश होगी वहां कोई कसर नहीं छोड़ेंगे। 

 

सीएम की अपील : संयम रखें, धैर्य रखें 
सीएम शिवराज सिंह चौहान ने इस दौरान प्रदेश की जनता से अपील की है कि प्रदेश की जनता संयम रखें, धैर्य रखें। उन्होंने कहा कि आज शाम साढ़े 6 बजे प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से चर्चा होगी। चर्चा खत्म होने के बाद रात में सभी जिले के कलेक्टर, एसपी, जिला प्रशासन से रात में ही बात करूंगा। कल कैबिनेट की वर्चुेअल बैठक होगी। 5 बजे सांसद विधायकों से संवाद करूंगा और सबको साथ लेकर इस संकट से निपटने की कोशिश करूंगा। संयम रखें धैर्य रखें अनावश्यक घर से बाहर न निकलें। भीड़ जितनी कम कर सकते है, उतनी करें। यह एक से दूसरे में फैलती है। हम भीड़ इकट्ठी न करें। संयम और अनुशासन का पालन करें।