ग्वालियर कलेक्टर बोले- रातभर जागना पड़ा तो जागूंगा, मरीजों को नहीं होने दूंगा परेशान, टोटल लॉकडाउन भी अंतिम विकल्प

 08 Apr 2021 09:24 PM

ग्वालियर। कोरोना की बढ़ती रफ्तार को देखते हुए अगर डेली 500 पॉजिटिव केस भी आए तब भी हम प्राप्त संसाधनों की दम पर कोरोना से जंग के लिए तैयार हैं। रातभर जागना पड़ा तो जागूंगा लेकिन मरीजों को बेड, दवा और आवश्यक सुविधाओं की कमी नहीं आने दूंगा। कोरोना की दूसरी लहर को लेकर कलेक्टर कौशलेन्द्र सिंह ने पीपुल्स समाचार से चर्चा में कहा कि बुधवार को 225 पॉजिटिव केस आए हैं। अगर इन केसों की संख्या डेली 500 भी आए तो हम अगले दस दिन तक कोरोना से जंग लड़ने के लिए तैयार हैं। हम रातभर जागेंगे और मरीजों को सभी सुविधाएं मुहैया कराने का प्रयास करेंगे।

नहीं आएगी ऑक्सीजन की कमी
ऑक्सीजन के सवाल पर सिंह ने कहा कि हमारे पास जयारोग्य चिकित्सालय परिसर में ऑक्सीजन के चार टैंकर हैं। संबंधित कंपनी से बातचीत हुई है,उनका कहना है कि  अगर कंपनी के पास ऑक्सीजन की किल्लत नहीं आएगी तो हमें भी कमी नहीं होने देंगे। सभी निजी और सरकारी अस्पतालों को ऑक्सीजन सिलेंडर भरपूर मात्रा में रखने की हिदायत दी है।

मरीजों को नहीं मिल रहे रेमडेसिविर ?
मरीजों को रेमडेसिविर इंजेक्शन की किल्लत होने की बात सही है। हम इंजेक्शन बनाने वाली कंपनी से लेकर बड़े डीलर तक के संपर्क में हैं। 300 इंजेक्शन एकाध रोज में हमारे पास आ जाएंगे। लेकिन यह सिर्फ 50 मरीजों की जरूरत पूरा करेंगे। क्योंकि एक मरीज को छह रेमडेसिविर इंजेक्शन की जरूरत पड़ती है। इसलिए हम स्टॉकिस्टों से बात कर रहे हैं।

जरूरी हुआ तो और सख्त कदम उठाएंगे
कलेक्टर का कहना है कि अभी हमने गृह मंत्रालय की गाइड लाइन के अनुसार बंदिशें लगाईं हैं। शहर में संक्रमण फैलने से रोकने के लिए जरूरी हुआ तो और भी सख्त कदम उठाएंगे।  अधिक संक्रमण वाले क्षेत्रों के लिए  टोटल लॉक डाउन का विकल्प भी खुला है।

सभी शासकीय अवकाश पर रोक
कोरोना के गंभीर संक्रमण को देखते हुए कलेक्टर कौशलेन्द्र सिंह ने सभी अधिकारी, कर्मचारियों के आकस्मिक अवकाश, अर्जित अवकाश पर तुरंत प्रभाव से रोक लगा दी है। यह रोक आगामी आदेश तक प्रभावी रहेगी। यह आदेश तत्काल प्रभाव से लागू रहेगा।