लापरवाही : भोपाल एम्स में पिता के लिए ऑक्सीजन की गुहार लगाता रहा बेटा, न ऑक्सीजन मिल रही न दवाईयां, वीडियो वायरल

 03 May 2021 06:15 PM

भोपाल। राजधानी के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान एम्स भोपाल की हकीकत एक मरीज ने सोशल मीडिया पर बयां की है। मरीज को करीब एक सप्ताह तक बेड नहीं दिया गया। वहीं जब मरीज की हालत बिगड़ी और आॅक्सीजन की जरूरत हुई तो खाली सिलेंडर लगा दिया गया। एक गंभीर मरीज को खाली सिलेंडर से ऑक्सीजन देने की कोशिश की गई। यही नहीं मामला सामने आने के बाद अस्पताल और मेडिकल कॉलेज प्रबंधन इलाज की व्यवस्था करने की बजाय एक दूसरे पर ही जिम्मेदारी डालने में लग गए। 

शनिवार को उनकी स्थिति बहुत ज्यादा बिगड़ गई, ऑक्सीजन सैचुरेशन भी 65 पर आ गया। परिजनों ने मरीज को दूसरे अस्पताल में शिफ्ट करने को कहा और ऑक्सीजन की मांग की तो अस्पताल स्टाफ ने खाली सिलेंडर लगा दिया। ऑक्सीजन ना मिलने से उनकी हालत बिगड़ गई। मरीज के परिजनों ने जैसे-तैसे शशि भूषण को निजी अस्पताल में एडमिट कराया। इस मामले में एम्स प्रबंधन से संपर्क किया गया लेकिन उन्होंने कोई जवाब नहीं दिया। 

एम्स के बाहर से दवाएं खरीदने के मजबूर परिजन 
शशि भूषण के बेटे ने बताया कि एम्स में उन्हें दवाएं तक नहीं मिली। डॉक्टर ने जो भी दवाएं लिखीं वे सभी उन्हें एम्स के बाहर मेडिकल स्टोर जाकर खरीदनी पड़ रही है। जानकारी के मुताबिक कोलार के रहने वाले शशिभूषण मिश्रा को सांस लेने में तकलीफ के बाद 24 अप्रैल को एम्स अस्पताल में भर्ती कराया गया। उनके बेटे ने बताया कि तबीयत ज्यादा खराब होने के बावजूद 30 अप्रैल तक उन्हें सामान्य बेड पर ही रखा गया।