धर्म : बरगद पूजकर महिलाओं ने मांगी अपने पति के दीर्घायु होने की कामना, एक साथ मनाई जा रही वट सावित्री अमावस्या और शनि जयंती

 10 Jun 2021 02:23 PM

भोपाल। ज्येष्ठ कृष्ण अमावस्या पर आज महिलाओं ने पति की दीर्घायु की कामना के साथ व्रत रखकर वट सावित्री पूजन की। वहीं, शनि जयंती भी आज मनाई जा रही है। श्रद्धालुओं ने मंदिरों में शनिदेव को तेल व तिल से अभिषेक, पूजा-आरती कर अपने कष्टों के निवारण और कोरोना महामारी के खात्मे की प्रार्थना की।

कंकणाकृति सूर्यग्रहण भी आज रहेगा, लेकिन यह भारत में दिखाई नहीं देगा इसलिए इसका सूतक मान्य नहीं रहेगा और लोग पूजा-अर्चना कर सकेंगे। ज्योतिषों के अनुसार ग्रहण और शनि जयंती का संयोग होने पर सूर्य देव को जल चढ़ाएं, शनि को तेल और वट वृक्ष पर दूध तो विभिन्न शारीरिक व मानसिक कष्टों का निवारण होगा।

वहीं, पंडितों ने बताया कि अमावस्या पर होने वाली वट सावित्री की पूजा सुहागिन महिलाओं का विशेष पर्व है। इस दिन वे अखंड सौभाग्य के लिए वट वृक्ष की पूजा करती हैं।