शाहजहांनाबाद में पत्नी की मौत से तनाव में आए युवक ने सुसाइड की, निशातपुर में बुजुर्ग ट्रेन के आगे कूदा; बिलखिरिया में लाश मिली

 08 Apr 2021 09:42 PM

भोपाल। शाहजहांनाबाद इलाके में पत्नी की मौत के बाद से तनाव में चल रहे युवक ने फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली। लॉकडाउन में काम नहीं मिलने से भी वह परेशान था। हालांकि, सुसाइड नोट नहीं मिलने से आत्महत्या की असल वजह का खुलासा नहीं हो सका है।  शाहजहांनाबाद पुलिस ने पीएम के बाद शव परिजनों को सौंप दिया है। 

थाना प्रभारी जहीर खान ने बताया कि 31 वर्षीय जोगेंद्र सिंह पिता गुरुबख्श इलाके में रहकर पुताई का काम करता था। करीब चार साल पहले उसकी पत्नी की मौत हो गई थी। तब से वह तनाव में रहता था। बीते एक साल से लॉकडाउन की वजह से उसे काम भी मिलना बंद हो गया था। इससे भी वह परेशान था। बुधवार शाम करीब पौने छह बजे जोगेंद्र ने फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली। वह यहां पर अपने पिता और भाई के साथ रहता था।

केस-2:
बीमारी से परेशान बुजुर्ग ने ट्रेन के सामने कूदकर जान
दी
निशातपुरा इलाके के संजय नगर में रहने वाले 80 वर्षीय बुजुर्ग नथन सिंह जाट ने ट्रेन के सामने कूदकर खुदकुशी कर ली। नथन हार्ट की बीमारी से बहुत लंबे समय से ग्रसित थे। मंगलवार को ही उनके बेटे उन्हें अस्पताल से लेकर घर आए थे। बुधवार सुबह करीब छह बजे वे फ्रेश होने के बहाने से घर से निकले। थोड़ी देर बाद देवकी नगर फाटक के पास उनका शव क्षत-विक्षत हालत में मिला। परिजनों ने उनकी पहचान की।  

केस- 3: 
नाले में मिली होटल कर्मचारी की लाश

बिलखिरिया इलाके में पुलिया के नीचे नाले में युवक की लाश मिलने से सनसनी फैल गई। युवक की जेब में शराब का बोतल, डिस्पोज गिलास, नमकीन, गुटखा, गांजा समेत अन्य सामग्री मिली है। पुलिस को आशंका है कि युवक नशे की हालत में पुलिया पर बैठा रहा होगा, तभी संतुलन बिगड़ने पर वह गिर गया होगा। हालांकि उसे किसी ने पुलिया पर बैठा नहीं देखा है। पुलिस पीएम करा उसके शव को दफना दिया है। 

पुलिस के मुताबिक, मूलत: दरभंगा बिहार निवासी 40 वर्षीय पंकज कुमार ग्यारहमील बॉयपास स्थित एक होटल में बर्तन साफ करने का काम करता था। करीब दो माह से वह नौकरी भी नहीं कर रहा था। बुधवार सुबह करीब आठ बजे पुलिस को सूचना मिली कि  विनायक भोजनालय से करीब 200 मीटर पुलिया के नीचे नाले में अज्ञात व्यक्ति का शव पड़ा है। मौके पर पहुंची पुलिस ने करीब तीन फीट गहरे पानी से युवक का शव बाहर निकाला। स्थानीय लोगों ने उसकी पहचान पंकज के रूप में की। थाना प्रभारी उमेश सिंह चौहान ने बताया कि पंकज के परिजनों से संपर्क नहीं हो सका है। पंकज मोबाइल फोन नहीं रखता था। उसके पास ऐसे दस्तावेज भी नहीं मिले जिससे कि उसके परिजनों से फिलहाल संपर्क किया जा सके। स्थानीय लोगों ने उसका नाम पंकज बताया है।