भास्कर समूह के ठिकानों पर 6वें दिनभी चलती रही टैक्स चोरी की पड़ताल

 28 Jul 2021 07:07 AM

भोपाल भास्कर समूह के सभी ठिकानों पर आयकर विभाग की छापामार टीमें 6वें दिन भी डटी रहीं। टैक्स चोरी और वित्तीय अनियमितताओं से जुड़े ढेरों दस्तावेज और डिजिटल एविडेंस बरामद किए गए हैं। इनमें बेशकीमती और बेनामी प्रॉपर्टी की रजिस्ट्रियां भी शामिल हैं। भास्कर के एमडी सुधीर अग्रवाल, उनके भाई व अन्य डायरेक्टर्स- मैनेजर्स से पूछताछ का सिलसिला मंगलवार को भी जारी रहा। समूह के भोपाल सहित इंदौर, जयपुर, अहमदाबाद, दिल्ली, नोएडा, मुंबई व कोरबा में स्थित ठिकानों पर आयकर की टीमें टैक्स चोरी के दस्तावेज खंगालने में जुटी हैं। शेल कंपनियों में घुमाई गई 2,200 करोड़ की राशि की चेन और कंपनियों के नाम पर बैंकों से उठाए गए हजारों करोड़ रुपए के भारी भरकम लोन के संबंध में डायरेक्टर्स से अलग-अलग पूछताछ चल रही है। ऐसे दस्तावेज भी मिले हैं, जिनमें कंपनी में फायनेंस शाखा से जुड़े कुछ मैनेजर्स और डायरेक्टरों को 18-19 कंपनियों में बतौर डायरेक्टर दिखाया गया है।

छापा खत्म होने के बाद दिया जाएगा पूरा ब्यौरा

आयकर विभाग को भास्कर समूह के करीब 3 दर्जन ठिकानों से 6 दिन की पड़ताल के दौरान कितनी प्रॉपर्टी, नकदी, सोना-चांदी व टैक्स चोरी मिली अभी इसका खुलासा होना बाकी है। विभागीय सूत्रों का कहना है कि छापे की कार्यवाही संपन्न होने के बाद जब्त की गई अघोषित संपत्ति, नकद राशि, आभूषण के अलावा कुल टैक्स चोरी का ब्यौरा भी जारी किया जाएगा।

कंपनियों का होगा फॉरेंसिक ऑडिट

समूह की जिन कंपनियों के नाम पर हजारों करोड़ रुपए का कर्ज लिया गया है, उन सभी की फॉरेंसिक ऑडिट कराने की तैयारी है। यह किसी फर्म अथवा व्यक्ति से संबंधित ऐसा मूल्यांकन है, जिसका उपयोग अदालत में साक्ष्य के रूप में होता है।