दिनभर बैठा रहा खाली तो शाम को पुलिस वालों ने कराई बोहनी

 05 May 2021 01:34 AM

मै कई दिनों से परेशान हूं हाथ में चोट लग गई थी इसके जख्म में भी दर्द होता है उसकी वजह से बहुत कमजोरी आ गई। खाना भी पूरी तरह से नहीं मिल रहा। अब तो मेरी जमा पूंजी भी खत्म हो चुकी है। जिसके चलते मैंने अपनी वजन करने की मशीन उठाई, सोचा कि कोई ग्राहक मिलेगा तो पैसे कमा लूंगा, मैं पहले भी न्यू मार्केट में बैठकर कुछ पैसे कमा लेता था। लेकिन अब कोरोना के कारण बाजार बंद हैं तो कोई ग्राहक भी नहीं आ रहा है। ऐसे में पूरा दिन बेकार ही बीत रह है, जिससे खाने के लाले पड़ गए हैं। यह कहना है न्यू मार्केट के पास रहने वाले सलीम का, उन्होंने बताया कि लॉकडाउन की वजह से अब बहुत परेशान हो चुका हूं। कहां से कमाऊं? कुछ समझ नहीं आता। सलीम ने बताया सुबह से भूख लग रही थी। जेब में पैसे भी नहीं थे तो मैंने सोचा अपनी मशीन रखकर दुकान वापस खोलूं, सुबह से बैठा था, शाम हो गई मगर ग्राहक नहीं आया। शाम को पुलिस वाले मिश्राजी अपने एक साथी के साथ मेरे पास आए और मुझसे पूछा कोई ग्राहक आया क्या, तब मैंने उन्हें बताया कि कोई नहीं आया तो उन्होंने मुझसे वजन कराया और मुझे कुछ पैसे दिए। जिससे मैंने अभी चने लेकर खाए।