महिलाओं को अब रजिस्ट्री पर 2 फीसदी की छूट

 08 Apr 2021 02:12 AM

भोपाल। राज्य सरकार ने महिलाओं के नाम पर कराई जाने वाली रजिस्ट्री पर लगने वाली पंजीयन फीस को तीन प्रतिशत से घटाकर एक प्रतिशत कर दिया है। साथ ही महिलाओं के नाम पर 30 साल की लीज पर लगने वाले पंजीयन फीस को भी एक हजार रुपए के स्थान पर 35 प्रतिशत स्टाम्प प्रभार्य लेने का निर्णय लिया है। इस संबंध में बुधवार को राजपत्र में अधिसूचना जारी कर दी गई है। राज्य सरकार ने रजिस्ट्री शुल्क में 31 दिसंबर 2020 से पहले 2 प्रतिशत की छूट दी थी, जिसके अवधि बाद में बढ़ाई गई और इससे रजिस्ट्री कराने की दर में काफी वृद्धि हुई, लेकिन छूट समाप्त होते ही रजिस्ट्री कराने की दर में कमी आई थी। सरकार ने कोरोना काल को देखते हुए फिर महिलाओं को छूट देने का निर्णय लिया है। इसके तहत दस्तावेजों पर प्रभार्य पंजीयन फीस की दर भारतीय स्टाम्प अधिनियम के तहत बाजार गाइडलाइन के आधार पर संगणित मूल्य के 3 प्रतिशत को घटाकर एक प्रतिशत कर दिया है। साथ ही 30 वर्ष अथवा उससे अधिक अवधि की लीज पर प्रभार्य पंजीयन फीस न्यूनतम एक हजार रुपए के अध्याधीन रखते हुए लीज पर लगने वाले शुल्क के तीन चौथाई से घटाकर स्टाम्प शुल्क का 35 प्रतिशत किया जाता है। इससे रजिस्ट्री कराने में महिलाओं को लाभ मिलेगा।