भारत में डायरेक्ट सेलिंग कारोबार 2019-20 में 16776 करोड़ के पार

 21 Jul 2021 12:56 AM

नई दिल्ली। भारतीय डायरेक्ट सेलिंग कारोबार वर्ष 2019-20 में 28 प्रतिशत की प्रभावशाली वार्षिक वृद्धि के साथ 16776 करोड़ रुपये पहुंच गया जो वर्ष 2018-19 के मुकाबले 3696 करोड़ अधिक है। देश में डायरेक्ट सेलिंग उद्योग की संस्था इंडियन डायरेक्ट सेलिंग एसोसिएशन(आईडीएसएस) की केंद्रीय वाणिज्य एवं उद्योग राज्य मंत्री सोम प्रकाश द्वारा नई दिल्ली में जारी एक सर्वेक्षण रिपोर्ट में यह जानकारी दी गई है। केंद्रीय मंत्री ने कहा डायरेक्ट सेलिंग उद्योग देश में लाखों लोगों को स्वरोजगार, अतिरिक्त आय सृजन और स्टार्टअप का अवसर प्रदान कर रहा है। देश में उद्योगों को बढ़ावा देने के लिये अनुकूल माहौन तैयार करनाख्वा उनके मंत्रालय की सर्वोच्च प्राथमिकताओं में से एक है। मंत्रालय ने इस सम्बंध में अनेक कदम उठाये हैं तथा डायरेक्ट सैलिंग उद्योग को इसका लाभ उठाना चाहिए। रिपोर्ट के अनुसार देश में डायरेक्ट सेलिंग उद्योग और कारोबार का दायरा तेजी से बढ़ रहा है और इसने गत चार सालों में 18 प्रतिशत सीएजीआर दर्ज की है। इसके अलावा डायरेक्ट सेलिंग से जुड़े लोगों की संख्या वर्ष 2018-19 के लगभग 57 लाख के मुकाबले वर्ष 2019-20 में 30 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज करते हुए लगभग 74 लाख तक पहुंच गई है। इनमें पुरुष और महिलाओं की संख्या लगभग समान है। आईडीएसए की अध्यक्ष रिनी सान्याल ने रिपोर्ट पर अपनी प्रतिक्रिया में कहा ह्यह्यसर्वेक्षण रिपोर्ट देश में डायरेक्ट सेलिंग कारोबार को लेकर उत्साहजनक परिद्दश्य दिखाती है। ऐसे में जब दुनियाभर में कोरोना महामारी के चलते गम्भीर सामाजिक-आर्थिक संकट व्याप्त है गत चार वर्षों में 18त्न की सीएजीआर इस बात का ठोस प्रमाण है कि देश में डायरेक्ट सेलिंग व्यवसाय ने लगातार और शानदार प्रगति की है और आने वाले वर्षों में सरकार के उम्मीदों के अनुरूप नियामक ढांचे की बदौलत यह अपनी स्थिति को और मजबूत करने की ओर अग्रसर है। आईडीएसए के उपाध्यक्ष रजत बनर्जी ने कहा कि मुझे यह जानकारी साझा करते हुये खुशी हो रही है कि भारत वर्ष 2019 में विश्व डायरेक्ट सैलिंग कोरोबार में अपने 15वें स्थान से सुधार करते हुये 12वें स्थान पर पहुंच गया। हमें पूरा विश्वास है कि भारत पहले के अनुमानों की तुलना में बहुत जल्द दुनिया के शीर्ष पांच डायरेक्ट सेलिंग बाजारों में शामिल होने का लक्ष्य हासिल कर लेगा।