स्टील महंगा होने से घर बनाने पर ज्यादा करना होगा खर्च

 11 Jan 2021 08:18 PM

नई दिल्ली ।घर बनाने के लिए प्रयोग होने वाले स्टील की कीमतों में लगातार बढ़ोतरी होती जा रही है। पिछले एक साल में स्टील की थोक कीमतों में 55 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है। इसके पीछे स्टील कंपनियों द्वारा दाम बढ़ाने और आयरन ओर दोनों की कीमतें बढ़ना शामिल है। मुंबई में स्टील का थोक भाव 58 हजार रुपए प्रति टन पर पहुंच गया है। एक साल पहले यह दाम 37.5 हजार रुपए प्रति टन था। वहीं, थोक स्टील का दाम बीते एक हफ्ते में 2,750 रुपए प्रति टन बढ़ा है। इसका सीधा असर उस ग्राहक पर पड़ रहा है जो घर बना रहा है।

स्टील कंपनी और खनन कंपनी दोनों जिम्मेदार :
कंस्ट्रक्शन में इस्तेमाल होने वाले स्टील का ज्यादातर उत्पादन छोटे और सेकंडरी मिल करते हैं। कोरोना के कारण आयरन ओर के भाव बढ़ने से और उसकी कमी होने से उत्पादन घटा है। इसके साथ ही खनन कंपनी एनएमडीसी ने आयरन ओर की कीमत 135% बढ़ा दी है। छह महीने पहले यह कीमत 1960 प्रति टन थी जो पिछले दिसंबर में बढ़कर 4,610 रुपए टन हो गई। 
लगातार बढ़ रही कीमतों पर केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने कहा है कि स्टील और सीमेंट बढ़ते भाव से सरकार की परियोजनाओं को झटका लगेगा। गडकरी ने कहा कि स्टील और सीमेंट की कीमत पर नियंत्रण के लिए एक रेगुलेटर का सुझाव है, इसके लिए वो वित्त मंत्रालय और प्रधानमंत्री से बात करेंगे।