ग्लैंड फार्मा के आईपीओ को मंजूरी,6000 करोड़ जुटाने का लक्ष्य

 25 Oct 2020 01:16 AM

मुंबई। शंघाई फोसन फार्मा की मेजोरिटी हिस्सेदारी वाली ग्लैंड फार्मा के IPO (इनीशियल पब्लिक ऑफरिंग) को सेबी की मंजूरी मिल गई है। इसके जरिए कंपनी 6 हजार करोड़ रुपए जुटाने का लक्ष्य रखी है। अगर यह IPO आता है तो यह चीन की मेजोरिटी हिस्सेदारी वाली किसी कंपनी का पहला IPO होगा। माना जा रहा है कि यह कढड अगले महीने आ जाएगा। 1,250 करोड़ फ्रेश इश्यू का होगा: इस IPO के तहत 1,250 करोड़ रुपए का फ्रेश इश्यू हो सकता है जबकि 4,750 करोड़ रुपए का ऑफर फॉर सेल (ओएफएस) रखा जा सकता है। यानी इस इश्यू का साइज 6000 करोड़ रुपए हो सकता है। IPO के लीड मैनेजर में सिटी, नोमुरा और कोटक महिंद्रा बैंक हैं।

इंजेक्टेबल दवाओं को बनाती है कंपनी: ग्लैंड फार्मा हैदराबाद की कंपनी है। यह इंजेक्टेबल दवाओं को बनाती है। यह हाल के समय का सबसे बड़ा IPO है। सेबी की ये मंजूरी उस समय आई है जब भारत में फार्मा सेक्टर में जोरदार तेजी है और भारत और चीन के बीच पूर्वी लद्दाख में सीमा विवाद गहरा गया है। हाल के समय में फार्मा स्टॉक ने अच्छा रिटर्न दिया है। ऐसे में ग्लैंड फार्मा के कढड को बेहतर रिस्पांस मिल सकता है।

तीन सालों में फार्मा कंपनी का पहला IPO : हाल में कई आईपीओ लॉन्च हुए हैं, लेकिन इस साल अभी तक बाजार में किसी नई फार्मा कंपनी की लिस्टिंग नहीं हुई है। फार्मा कंपनी का आखिरी IPO वर्ष 2017में आया था। उस समय एरिस लाइफ साइंसेस ने IPO लाया था। ग्लैंड फार्मा IPO में प्राइमरी और सेंकेंडरी दोनों तरह के इश्यू होंगे।