मथुरा में देश का पहला हरित हाइड्रोजन संयंत्र लगाएगी इंडियन ऑयल

 24 Jul 2021 01:06 AM

नई दिल्ली देश की सबसे बड़ी तेल विपणन कंपनी इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन ने उत्तर प्रदेश के मथुरा में देश का पहला हरित हाइड्रोजन संयंत्र लगाने की शुक्रवार को घोषणा की। कंपनी ने बताया कि हाइड्रोजन अपने-आप में सबसे स्वच्छ ईंधन माना जाता है। हरित हाइड्रोजन ग्रीन हाइड्रोजन पानी विद्युतीय विघटन (इलेक्ट्रोलिसिस) कर प्राप्त किया जाता है और इसके उत्पादन के लिए भी हरित ऊर्जा का इस्तेमाल किया जाता है। कंपनी अपनी मथुरा रिफाइनरी में हरित हाइड्रोजन का देश का पहला संयंत्र लगाएगी। इंडियन आॅयल के अध्यक्ष श्रीकांत माधव वैद्य ने बताया ग्रीन हाइड्रोजन संयंत्र के लिए बिजली की आपूर्ति कंपनी के राजस्थान स्थित पवन ऊर्जा संयंत्र से ग्रिड के जरिये की जाएगी। उन्होंने कहा कि मथुरा को इस परियोजना के लिए इसलिए चुना गया है क्योंकि यह ताज ट्रेपेजियम जोन के काफी करीब है। ग्रीन हाइड्रोजन का उत्पादन शुरू होने के बाद मथुरा रिफाइनरी में तेल शोधन के लिए कार्बन उत्सर्जन करने वाले ईंधनों का इस्तेमाल बंद हो जाएगा। श्री वैद्य ने कहा कि विभिन्न एजेंसियों का अनुमान है कि वर्ष 2040 तक देश में ईंधन की मांग बढ़कर 40 से 50 करोड़ टन पर पहुंच जाएगी जो इस समय 25 करोड़ टन है। माँग में इस तेज वृद्धि के मद्देनजर सभी तरह के ऊर्जा स्रोतों का एक साथ उपयोग हो सकेगा। इंडियन ऑयल ऊर्जा के विभिन्न आयाम तलाशते हुये पर्यावरण अनुकूल तकनीकों को प्राथमिकता देगी।