Breaking News

जियो करेगा देश में सबसे पहले 5जी की लॉन्चिंग: मुकेश अंबानी

 25 Jun 2021 02:17 AM

नई दिल्ली। देश की सबसे बड़ी कंपनी रिलायंस इंडस्ट्रीज की 44 वीं सालाना आम सभा के दौरान उसके अध्यक्ष मुकेश अंबानी ने भरोसा जताया कि देश में 5जी की शुरुआत रिलायंस जियो ही करेगा। रिलायंस जियो ने अत्याधुनिक स्टैंडअलोन 5जी तकनीक को विकसित करने में जबरदस्त बढ़त हासिल की है, जो वायरलेस ब्रॉडबैंड के लिए बड़ी छलांग है। अंबानी ने बताया कि 5जी परीक्षणों के दौरान जियो ने सफलतापूर्वक 1 जीबीपीएस से अधिक की स्पीड पाई है। हाल ही में 5जी परीक्षण शुरू करने के लिए आवश्यक स्पेक्ट्रम कंपनियों को जारी किया गया था। जियो दिल्ली, मुंबई समेत कई शहरों में 5जी तकनीक का परीक्षण कर रही है। श्री अंबानी ने बताया कि पूरे देश में फैले डेटा सेंटरों पर 5जी स्टैंडअलोन नेटवर्क को इंस्टाल कर दिया गया है और रिलायंस जियो के मजबूत नेटवर्क आकिर्टेक्चर की वजह से 4जी से 5जी में आसानी से अपग्रेडेशन किया जा सकता है। आत्मनिर्भर भारत का जिक्र करते हुए श्री अंबानी ने कहा एंड-टू-एंड 5जी इकोसिस्टम विकसित करने के लिए हम अपने अग्रणी वैश्विक भागीदारों के साथ 5जी उपकरणों की पूरी श्रृंखला विकसित कर रहे हैं। हेल्थकेयर, शिक्षा, मनोरंजन, रिटेल और अर्थव्यवस्था के लिए जियो बेहतरीन ऐप्लीकेशन विकसित करेगा।

फिच ने रिलायंस की रेटिंग को एक पायदान ऊपर किया

फिच रेटिंग्स ने रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (आरआईएल) की रेटिंग को भारत की सॉवरेन रेटिंग से एक पायदान ऊपर 'बीबीबी' कर दिया है। ऐसा कंपनी द्वारा विविध व्यापार खंड में पूरे देश से नकदी प्रवाह हासिल करने और लगातार ऋण में कमी के चलते किया गया। इसके साथ ही आरआईएल की रेटिंग भारत की सॉवरेन रेटिंग से एक पायदान ऊपर हो गई है। गौरतलब है कि भारत की सॉवरेन रेटिंग बीबीबी-' है। फिच ने एक बयान में कहा कि उसने आरआईएल की दीर्घकालिक विदेशी मुद्रा जारीकर्ता डिफॉल्ट रेटिंग (आईडीआर) को बीबीबी-' से बढ़ाकर बीबीबी' कर दिया है। इसके साथ ही आरआईएल की दीघर्कालिक स्थानीय-मुद्रा आईडीआर को स्थिर परिदृश्य के साथ ह्यबीबीबी+' रेटिंग दी गई है।

निदेशक मंडल में अरामको के चेयरमैन भी

सऊदी अरामको के चेयरमैन और वहां के प्रमुख संपत्ति कोष पीआईएफ के प्रमुख यासिर ओथमान अल-रुमायन रिलायंस इंडस्ट्रीज के निदेशक मंडल में बतौर स्वतंत्र निदेशक शामिल होंगे। उनकी नियुक्ति दोनों पक्षों के बीच 15 अरब डॉलर के सौदे के पूरा होने से पहले हुई है। रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी ने बृहस्पतिवार को कंपनी की 44वीं सालाना आम बैठक में अल-रुमायन की नियुक्ति की घोषणा की। दो वर्ष पहले अंबानी ने कंपनी की तेल-रसायन (ओ2सी) इकाई में सऊदी अरामको को 20 प्रतिशत हिस्सेदारी बेचने की योजना की जानकारी दी थी।

ऊर्जा कारोबार में 75,000 करोड़ निवेश

देश में खानिज तेल और गैस क्षेत्र की दिग्गज कंपनी रिलायंस इंडस्ट्रीज ने नये हरित ऊर्जा प्रौद्योगिकी एवं विनिर्माण कारोबार में बड़े पैमाने पर कदम रखने की घोषणा की । इसके तहत कंपनी तीन साल में इस क्षेत्र में 75,000 करोड़ रुपए निवेश करेगी। दुनिया की सबसे बड़ी तेल रिफाइनरी चलाने वाली कंपनी वास्तव में इस पहल के जरिये हरित और स्वच्छ ऊर्जा के भविष्य को साधने की महत्वाकांक्षी तैयारी में जुटी है। इसके साथ रिलायंस 2030 तक कम-से-कम 1,00,000 मेगावाट सौर बिजली उत्पादन क्षमता स्थापित करने के साथ साथ कार्बन फाबइर संयंत्र में निवेश करेगी।