1 अप्रैल से श्रम कानून के नियम बदल जाएंगे, सैलरी, पीएफ समेत छुट्टियों पर पड़ेगा ये असर...

 16 Feb 2021 08:25 PM

भोपाल। आगामी एक अप्रैल से नए वित्तीय वर्ष की शुरुआत होने के साथ ही देश में श्रम कानून के नियमों में भी बदलाव लागू हो जाएगा। इसमें सैलरी पीएफ समेत छुट्टियों पर असर पड़ेगा। नए श्रम कानूनों के तहत कई बड़े बदलाव के कारण कर्मचारियों के सैलरी स्ट्रक्चर में बड़ा बदलाव देखने को मिलेगा।

जानिए नए नियमों का असर...

  • कंपनियों को अपने कर्मचारियों को दिए जाने वाले सीटीसी (कॉस्ट टू कंपनी) में कुछ बदलाव करने पड़ेंगे। 
  • कंपनियों को कर्मचारियों की बेसिक सैलरी उनके सीटीसी की तुलना में 50 फीसदी करनी होगी। 
  • नए कानूनों के तहत कर्मचारी के भत्ते कुल वेतन के 50 फीसदी से ज्यादा नहीं हो सकते। इसका असर ये होगा कि कर्मचारी को मिलने वाली ग्रेच्युटी में बढ़ोतरी होगी। 
  • बोनस, पेंशन और पीएफ योगदान, एचआरए, ओवरटाइम आदि को वेतन से बाहर रखना होगा।
  • यदि कर्मचारी निर्धारित समय से 15 मिनट ज्यादा काम करते हैं तो वह ओवरटाइम के पात्र माने जाएंगे।
  • वर्तमान नियमों के मुताबिक निर्धारित समय से आधा घंटा ज्यादा काम करने पर कर्मचारी ओवरटाइम का पात्र माना जाता है, जिसे अब 15 मिनट कर दिया गया है।
  • कर्मचारियों को हफ्ते में अधिकतम 48 घंटे काम करने की सुविधा मिल सकती है। 
  • अगर कोई कर्मचारी 4 दिनों में ही 48 घंटे काम कर लेता है तो उसे हफ्ते में तीन छुट्टियां दी जा सकती हैं।
  • हालांकि इसके लिए कर्मचारी को अपने काम के घंटे 8 से बढ़ाकर 12 करने होंगे।
  • अभी के नियमों के मुताबिक काम के घंटे 8 हैं और इस तरह हफ्ते में 6 दिन काम करना पड़ता है।