वैश्विक स्तर पर ब्याज दर बढ़ने की चिंता से शेयर बाजारों में गिरावट

 13 May 2021 02:16 AM

मुंबई। शेयर बाजारों में लगातार दूसरे दिन गिरावट दर्ज की गई जिससे सेंसेक्स 471 अंक लुढ़क गया और निटी 14,700 अंक से नीचे आ गया। बैंकों और वित्तीय कंपनियों के शेयरों में भारी बिकवाली तथा उपभोक्ता जिंसों की बढ़ती कीमतों के कारण वैश्विक बाजारों में ब्याज दर बढ़ने की चिंता से सूचकांक नीचे आये। तीस शेयरों वाला बीएसई सेंसेक्स 471.01 अंक यानी 0.96 प्रतिशत लुढ़कर 49 हजार अंक से नीचे 48,690.80 अंक पर बंद हुआ। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निटी भी 154.25 अंक यानी 1.04 प्रतिशत की गिरावट लेकर 14,696.50 अंक पर बंद हुआ। सेंसेक्स के शेयरों में सर्वाधिक 3 प्रतिशत से अधिक नुकसान इंडसइंड बैंक को हुआ। इसके अलावा एचयूएल, आईसीआईसीआई बैंक, एक्सिस बैंक, कोटक बैंक, महिंद्रा एंड महिंद्रा, अल्ट्रा टेक सीमेंट और टेक महिंद्रा के शेयरों में गिरावट रही। दूसरी तरफ, टाइटन, मारुती, पावरग्रिड, एसबीआई, एनटीपीसी, डॉ रेड्डी और एल एंड टी के शेयर लाभ में रहे। इनमें 4.60 प्रतिशत तक की तेजी आयी। जियोजित फाइनेंशियल सर्विसेज में अनुसंधान प्रमुख विनोद नायर के अनुसार उपभोक्ता जिंसों की बढ़ती कीमतों के कारण वैश्विक बाजार में ब्याज दरें और बांड प्रतिफल बढ़ने की चिंता में सूचकांक नीचे आये। उन्होंने कहा, सभी प्रमुख सूचकांक समेत कीमती धातु गिरावट लेकर बंद हुए जबकि सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक और मीडिया शेयरों में तेजी बनी रही। रिलायंस सिक्योरिटीज के रणनीति प्रमुख विनोद मोदी ने भी कहा, देश में पिछली दो दिन के दौरान कोरोना संक्रमण के प्रतिदिन करीब 3.5 लाख मामले आये है, लेकिन सकारात्मकता दर अधिक होने और ग्रामीण इलाकों में बढ़ते मामलों से निवेशकों की धारणा प्रभावित हुई है।