सीबीएसई बोर्ड परीक्षा: शिक्षा मंत्री का ऐलान, दसवीं की परीक्षाएं रद्द; बारहवीं की स्थगित

 14 Apr 2021 04:38 PM

नई दिल्ली। सीबीएसई की परीक्षाओं को लेकर आज पीएम मोदी और शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक के बीच बैठक हुई। बैठक के बाद शिक्षा मंत्री ने बताया कि 12वीं की बोर्ड परीक्षाएं स्थगित कर दी गई हैं। इसके अलावा 10वीं के एग्जाम फिलहाल कैंसिल कर दिए गए हैं। 12वीं की मई और जून में होने वाली परीक्षाओं को स्थगित कर दिया गया, अब इनकी तारीख एक जून के बाद तय की जाएगी। कक्षा दसवीं बोर्ड का अंतिम परिणाम बोर्ड द्वारा विकसित ऑब्जेक्टिव क्राइटेरिया के आधार पर तैयार किया जाएगा।

 

 

 

 

बैठक में क्या बोले पीएम मोदी
शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल ने बताया कि बैठक में पीएम मोदी ने कहा कि छात्रों की भलाई सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता है। उन्होंने कहा कि केंद्र छात्रों के सर्वोत्तम हितों को ध्यान में रखेगा और यह सुनिश्चित करेगा कि उनके स्वास्थ्य का ध्यान रखा जाए, साथ ही उनके शैक्षणिक हितों को नुकसान न पहुंचे।

महामारी और स्कूल बंद होने की वर्तमान स्थिति को देखते हुए, और छात्रों की सुरक्षा और कल्याण को ध्यान में रखते हुए, यह निम्नानुसार तय किया गया है। 4 मई से 14 जून, 2021 तक आयोजित होने वाली कक्षा 12 वीं के लिए बोर्ड परीक्षाएं स्थगित कर दी गई हैं। इन परीक्षाओं को उसके बाद आयोजित किया जाएगा। बोर्ड द्वारा 1 जून 2021 को स्थिति की समीक्षा की जाएगी, और विवरण बाद में साझा किया जाएगा। परीक्षाओं की शुरुआत से पहले कम से कम 15 दिनों का नोटिस दिया जाएगा।

10वीं के छात्र प्रमोट होंगे। बोर्ड इसके लिए एक क्राइटेरिया तय करेगा, जिसके तहत छात्रों को प्रमोशन मिलेगा। अगर कोई छात्र रिजल्ट को लेकर संतुष्ट नहीं है तो उसे परीक्षा देने का मौका दिया जाएगा। ये परीक्षाएं परिस्थितियों के सुधार के बाद ही कराई जाएंगी।

सीबीएसई द्वारा सबसे पहले 3 फरवरी 2021 को पहली डेटशीट जारी की गई थी। इस डेटशीट के अनुसार दसवीं और बारहवीं की बोर्ड परीक्षाएं 4 मई 2021 से शुरू होने वाली थी। वहीं दसवीं कक्षा की परीक्षाएं 7 जून और बारहवीं कक्षा की बोर्ड परीक्षाएं 11 जून को समाप्त होने वाली थी। लेकिन कोरोना के चलते परीक्षाएं स्थगित कर दी गई थीं। 

सीएम अरविंद केजरीवाल ने परीक्षाओं को रद्द किए जाने की मांग की थी

मंगलवार को दिल्ली में कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए सीएम अरविंद केजरीवाल ने परीक्षाओं को रद्द किए जाने की मांग की थी। अरविंद केजरीवाल और उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने केंद्र सरकार से परीक्षा रद्द करने की अपील करते हुए कहा कि परीक्षा केंद्र वायरस के संक्रमण को फैलने में सहायक साबित हो सकते हैं। इसी बीच पंजाब के सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह ने भी केंद्र को पत्र लिखकर 10वीं, 12वीं बोर्ड परीक्षाओं को स्थगित किए जाने की अपील की थी। 

पिछले वर्ष भी नहीं हुए थे कई पेपर, ये था रिजल्ट का फॉर्मूला
पिछले वर्ष भी कोरोना और पूर्वी दिल्ली में भड़के दंगों के चलते 10वीं 12वीं के कई पेपर नहीं हो सके थे। सुप्रीम कोर्ट के निर्देश के बाद सीबीएसई ने कोरोना वायरस संकट को देखते हुए 10वीं और 12वीं परीक्षाएं रद्द करने का फैसला किया था। दिल्ली के सीबीएसई 10वीं के बहुत से छात्रों का रिजल्ट इंटरनल असेसमेंट, प्रोजेक्ट वर्क और असाइनमेंट वर्क के आधार पर जारी किया गया था।  
पिछले वर्ष 10वीं कक्षा में 91.46 फीसदी स्टूडेंट्स पास हुए थे। मेरिट लिस्ट जारी की गई थी। कोरोना वायरस के कारण उत्पन्न परिस्थितियों को देखते हुए बोर्ड ने 12वीं और 10वीं दोनों कक्षाओं के टॉपरों का ऐलान नहीं किया था।