CBSE-CISCE Exam Date: 12वीं की परीक्षा को लेकर प्रधानमंत्री मोदी आज शाम करेंगे बैठक, लिया जा सकता है अहम फैसला

 01 Jun 2021 03:57 PM

नई दिल्ली। CBSE-CISCE Class 12 की परीक्षाओं को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज शाम को एक अहम बैठक करेंगे। इस बैठक में परीक्षाओं की तारीखों को लेकर कोई फैसला लिया जा सकता है। इससे पहले आज ही केंद्रीय शिक्षा मंत्री 12वीं की परीक्षाओं को लेकर बैठक करने वाले थे। लेकिन अचानक उनकी तबियत खराब होने के कारण यह बैठक नहीं हो सकी। शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल एम्स में भर्ती हैं। 

पीएम की अध्यक्षता में होने वाली आज की बैठक में सभी राज्यों और अन्य हितधारकों के साथ गहन चर्चा के बाद उन्हें सभी संभावित विकल्पों के बारे में बताया जाएगा। केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) ने 15 जुलाई से 26 अगस्त के बीच परीक्षाएं कराने और सितंबर में परिणाम घोषित करने का प्रस्ताव रखा है। इसके साथ ही बोर्ड ने दो विकल्प भी प्रस्तावित किए हैं। इनमें एक में 19 प्रमुख विषयों के लिए अधिसूचित केंद्रों पर नियमित परीक्षाएं कराना या छात्रों के अध्ययन वाले स्कूलों में ही अल्पावधि की परीक्षाएं कराने के विकल्प हैं।

सीबीएसई 12 वीं बोर्ड की परीक्षा कराए जाने को लेकर अलग-अलग राय है। दिल्ली समेत कई राज्यों का कहना है कि टीकाकरण के बाद ही परीक्षा कराई जाए। महाराष्ट्र के शिक्षा मंत्री ने रविवार की बैठक के बाद कहा था कि राज्य अब भी बिना परीक्षा कराए मूल्यांकन करने के विचार के पक्ष में है। पंजाब सरकार ने भी दूसरा विकल्प चुना है। हालांकि उसने दोहराया कि परीक्षा से पहले विद्यार्थियों को कोविड टीका लगवाया जाना चाहिए।

सीबीएसई ने 12वीं की परीक्षा के लिए दिए थे दो विकल्प

  • प्रमुख विषयों के लिए कक्षा 12 की परीक्षा आयोजित करना है, जबकि छोटे विषयों का मूल्यांकन प्रमुख पेपर में प्रदर्शन के आधार पर किया जाएगा। निर्धारित परीक्षा केंद्रों पर 1 से 20 अगस्त तक होने वाली परीक्षा का परिणाम 20 सितंबर को घोषित किया जाएगा।
  • कक्षा 12 की परीक्षा 90 मिनट के लिए केवल प्रमुख प्रश्नपत्रों के लिए आयोजित की जाए, जिसके दौरान छात्र अपने स्वयं के स्कूलों में उपस्थित होंगे। छात्रों के पास एक लैंग्वेज और तीन इलेक्टिव पेपर लिखने का विकल्प होगा। पेपर 5 और 6 का मूल्यांकन प्रमुख पेपरों के प्रदर्शन के आधार पर किया जाएगा। परीक्षा दो बार यानी 15 जुलाई से 1 अगस्त और 5 से 26 अगस्त तक आयोजित की जाएगी। यदि कोई छात्र कोविड -19 की वजह से परीक्षा में शामिल नहीं हो पाते हैं उन्हें और मौका मिलेगा।

सुप्रीम कोर्ट में हुई थी सुनवाई
CBSE और ICSE की 12वीं की परीक्षा रद्द करने की मांग पर सोमवार को सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई हुई थी। कोर्ट ने मामले की सुनवाई 2 जून तक के लिए टाल दी है। केंद्र की ओर से एटॉर्नी जनरल वेणुगोपाल ने कहा है कि सरकार 2 दिन में अंतिम फैसला ले लेगी। इसलिए सुनवाई गुरुवार के लिए टाल दी जाए। केंद्र ने कोर्ट को दो दिन के भीतर अपना आखिरी फैसला अवगत कराए जाने की बात कही।

23 मई को हुई थी बैठक
इससे पहले रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह की अध्यक्षता में 23 मई को हाईलेवल बैठक हुई थी। इस मीटिंग में शिक्षा मंत्री निशंक के अलावा राज्यों के शिक्षा मंत्रियों और शिक्षा मंत्रालय से जुड़े अन्य अधिकारियों ने भाग लिया था। बैठक के बाद रमेश पोखरियाल ने अपने वीडियो संदेश में कहा था कि 12वीं की परीक्षा को लेकर एक जून को फैसला लिया जाएगा। वहीं राज्यों ने भी 12वीं की परीक्षा को लेकर अपने सुझाव केंद्र को भेज दिए हैं। कई राज्य सीबीएसई द्वारा दिए गए ऑप्शन मल्टीपल प्रश्नों वाली परीक्षा के पक्ष में हैं। वहीं कुछ राज्यों ने परीक्षा से पहले स्टूडेंट्स और शिक्षकों के वैक्सीनेशन कराए जाने पर जोर दिया है।