ओडिशा: पीएम मोदी ने आईआईएम संबलपुर के स्थाई कैंपस की आधारशिला रखी, बोले- मैनेजमेंट जगत को नई पहचान मिलेगी

 02 Jan 2021 11:46 AM

ओडिशा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए ओडिशा के आईआईएम संबलपुर के स्थाई कैंपस की आधारशिला रखी। उन्होंने कहा कि आईआईएम का ये स्थाई कैंपस ओडिशा के महान संस्कृति और संसाधनों की पहचान के साथ ओडिशा को मैनेजमेंट जगत में नई पहचान देगा।

 

आईआईएम का कैंपस मैंनेजमेंट जगत में नई पहचान देगा
प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि आज आईआईएम कैंपस के शिलान्यास के साथ ही ओड़िशा के युवा सामर्थ्य को मजबूती देने वाली एक नई शिला भी रखी गई है। IIM का ये स्थायी कैंपस ओड़िशा के महान संस्कृति और संसाधनों की पहचान के साथ ओड़िशा को मैंनेजमेंट जगत में नई पहचान देने वाला है।

आज के स्टार्टअप बन सकते हैं कल मल्टीनेशनल
प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि आज के स्टार्टअप कल मल्टीनेशनल बन सकते हैं। बीते दशकों में एक ट्रेंड देश ने देखा, बाहर बने मल्टी नेशनल बड़ी संख्या में आए और इसी धरती में आगे भी बढ़े। ये दशक और ये सदी भारत में नए-नए मल्टीनेशसल्स के निर्माण का है।

मैंनेजमेंट एक्सपर्ट की भारत को नई ऊंचाई पर ले जाने में अहम भूमिका
प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि देश के नए क्षेत्रों में नए अनुभव लेकर निकल रहे मैंनेजमेंट एक्सपर्ट भारत को नई ऊंचाई पर ले जाने में बड़ी भूमिका निभाएंगे। इस साल भारत ने कोविड संकट के बावजूद पिछले सालों की तुलना में ज्यादा यूनिकॉर्न दिए हैं।

छात्रों को दिया 'लोकल फॉर वोकल' का मंत्र
मोदी ने कहा कि लोकल को ग्लोबल में बदलने के लिए आईआईएम के छात्रों को नित नए समाधान खोजने की आवश्यकता है। प्रधानमंत्री ने कहा, मुझे यकीन है कि हमारे आईआईएम स्थानीय उत्पादों और वैश्विक सहयोग के बीच एक सेतु का काम कर सकते हैं।

प्रधानमंत्री ने कहा कि जब आपमें से अनेक साथी संबलपुरी टेक्सटाइल और कटक की फिलिगिरी कारीगरी को ग्लोबल पहचान दिलाने में अपने कौशल का इस्तेमाल करेंगे, यहां के टूरिज्म को बढ़ाने  के लिए काम करेंगे। तो आत्मनिर्भर भारत अभियान के साथ ही ओड़िशा के विकास को भी नई गति मिलेगी।

पूरी दुनिया ग्लोबल विलेज बन गई
प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि 'वर्क फ्रॉम एनीवेयर' के कॉन्सेप्ट से पूरी दुनिया ग्लोबल विलेज से ग्लोबल वर्कप्लेस में बदल गई है। भारत ने भी इसके लिए हर जरूरी रिफॉर्म्स बीते कुछ महीनों में तेजी से किए है। उन्होंने कहा कि प्रबंधन कौशल के लिए काम के पैटर्न और मांग तेजी से बदल रही है। 

 

5000 से ज्यादा लोग शामिल
इस दौरान ओडिशा के राज्यपाल गणेशी लाल, मुख्यमंत्री नवीन पटनायक, केंद्रीय मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक, धर्मेंद्र प्रधान और प्रताप चंद्र सारंगी भी मौजूदा रहेंगे। इस बारे में प्रधान मंत्री कार्यालय (पीएमओ) ने एक बयान में जानकारी दी। बयान में कहा गया है, समारोह में अधिकारियों, उद्योग के नेताओं, एजुकेशनिस्ट और स्टूडेंट्स, आईआईएम संबलपुर के एलुमिनाई और फैकल्टी सहित 5000 से ज्यादा लोग शामिल होंगे।