परफॉर्मेंस ग्रेडिंग इंडेक्स: पंजाब, चंडीगढ़, तमिलनाडु, अंडमान-निकोबार द्वीप समूह और केरल को ए ++ ग्रेड, पढ़ें अन्य राज्यों की ग्रेड

 06 Jun 2021 03:29 PM

नई दिल्ली। शिक्षा मंत्री, रमेश पोखरियाल निशंक ने आज भारत के राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के लिए परफॉर्मेंस ग्रेडिंग इंडेक्स (पीजीआई) 2019-20 का तीसरा संस्करण जारी करने की मंजूरी दी है।  सरकार ने स्कूली शिक्षा के क्षेत्र में परिवर्तन लाने के लिए 70 मापदंडों वाला परफॉर्मेंस ग्रेडिंग इंडेक्स पेश किया है। अधिकांश राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों ने पिछले वर्षों की तुलना में पीजीआई 2019-20 में अपने ग्रेड में सुधार किया है।

 

 


पिछले वर्षों की तुलना में अधिकांश राज्यों की ग्रेड में सुधार
पीजीआई के तीसरे संस्करण में पंजाब, चंडीगढ़, तमिलनाडु, अंडमान और निकोबार द्वीप समूह और केरल को ए ++ ग्रेड दिया गया है। इसके अलावा अधिकांश राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों ने पिछले वर्षों की तुलना में अपने ग्रेड में सुधार किया है।


अंडमान-निकोबार द्वीप समूह, अरुणाचल प्रदेश, मणिपुर, पुडुचेरी, पंजाब और तमिलनाडु ने पीजीआई स्कोर में 10% यानी 100 या अधिक अंकों का सुधार किया है। अंडमान-निकोबार द्वीप समूह, लक्षद्वीप और पंजाब ने पहुंच (एक्सेस) के मामले में में 10% (8 अंक) या उससे अधिक का सुधार दिखाया है।


इंफ्रास्ट्रक्चर में ओडिशा ने 20% सुधार दिखाया
13 राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों ने इंफ्रास्ट्रक्चर एवं सुविधाओं के मामले में 10% (15 अंक) या उससे अधिक का सुधार दिखाया है। वहीं अंडमान-निकोबार द्वीप समूह और ओडिशा ने 20% या उससे अधिक सुधार दिखाया है।


अरुणाचल प्रदेश, मणिपुर और ओडिशा ने इक्विटी (समानता) की दिशा में 10% से अधिक सुधार दिखाया है। इसके अलावा 19 राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों ने गवर्नेंस प्रोसेस के मामले में 10% (36 अंक) या उससे अधिक का सुधार दिखाया है। अंडमान-निकोबार द्वीप समूह, आंध्र प्रदेश, अरुणाचल प्रदेश, मणिपुर, पंजाब, राजस्थान और पश्चिम बंगाल ने तकरीबन 20% (72 अंक या अधिक) सुधार दिखाया है।

 

यह है राज्यों द्वारा प्राप्त ग्रेड की सूची

ग्रेड  राज्य
ग्रेड I++  पंजाब, चंडीगढ़, तमिलनाडु, अंडमान व निकोबार द्वीप समूह और केरल
ग्रेड I+ गुजरात, हरियाणा, महाराष्ट्र, एनसीटी-दिल्ली, पुदुचेरी, राजस्थान, दादर और नगर हवेली
ग्रेड I आंध्र प्रदेश, पश्चिम बंगाल, हिमाचल प्रदेश, कर्नाटक, ओडिशा, त्रिपुरा, उत्तर प्रदेश और दमन व दीव
ग्रेड II गोवा, उत्तराखंड, झारखंड, लक्ष्यद्वीप, मणिपुर, सिक्किम, तेलंगाना, जम्मू और कश्मीर
ग्रेड III  असम, बिहार, मध्य प्रदेश और मिजोरम
ग्रेड IV अरुणाचल प्रदेश, छत्तीसगढ़ और नागालैंड
ग्रेड V  मेघालय
ग्रेड VI 
ग्रेड VII  लद्दाख

 

मध्य प्रदेश व छत्तीसगढ़ ने 2018-19 से हासिल किए कम स्कोर

सुधान राज्य
20 फीसदी अंडमान निकोबार द्वीसमूह, पंजाब और अरुणाचल
10-20 फीसदी आंध्र प्रदेश, मणिपुर, त्रिपुरा, उत्तर प्रदेश, दमन व दीव, दादरा व नगर हवेली, पश्चिम बंगाल, ओडिशा, राजस्थान, हरियाणा, पुडुचेरी और तमिलनाडु
5-10 फीसदी मेघालय, नागालैंड, बिहार, उत्तराखंड, लक्षद्वीप, जम्मू कश्मीर, कर्नाटक, हिमाचल प्रदेश, महाराष्ट्र और एनसीटी दिल्ली
0.1-5 फीसदी   मिजोरम, असम, सिक्किम, तेलंगाना, गोवा, झारखंड, गुजरात, केरल और चंडीगढ़