बॉम्बे हाईकोर्ट ने गुलशन कुमार के हत्यारे को उम्रकैद की सजा को सही ठहराया

 01 Jul 2021 05:26 PM

मुंबई। बॉम्बे हाईकोर्ट ने भी सेशंस कोर्ट के उस निर्णय को सही ठहराया है जिसमें उसने गुलशन कुमार के हत्यारे रऊफ मर्चेंट को उम्रकैद की सजा दी थी। सेशंस कोर्ट ने उसे 2002 में सजा दी थी। इसके बाद 2009 में बीमार मां से मिलने के लिए उसे पैरोल पर रिहा किया गया था, लेकिन वो फरार हो गया।

अपने फैसले में बॉम्बे हाईकोर्ट ने कहा कि अब्दुल रऊफ छूट का हकदार नहीं है। न्याय और समाज के हित में अपीलकर्ता से किसी भी तरह की नरमी नहीं की जा सकती। 1997 की घटना के तुरंत बाद अब्दुल रऊफ 2001 में अपनी गिरफ्तारी तक फरार था और बाद में 2009 में परोल पर रिहा हुआ और 2016 में फिर से गिरफ्तार किया गया।

क्या हुआ था :

  • सेशंस कोर्ट ने रऊफ को साल 2002 में उम्रकैद की सजा सुनाई थी।
  • 2009 में बीमार मां से मिलने के लिए पैरोल पर रिहा किया गया
  • पैरोल पर निकलने के बाद वो बांग्लादेश भाग गया।
  • बांग्लादेश में वो फर्जी पासपोर्ट मामले में गिरफ्तार किया गया।
  • बांग्लादेश में उसे पांच साल जेल की सजा हुई।
  • 2014 में जेल से बाहर निकल गया, लेकिन उसी साल आतंकियों से लिंक के कारण फिर गिरफ्तार कर लिया गया।