ड्रग केस में एक्टर एजाज खान को एनसीबी ने हिरासत में लिया; बटाटा गैंग से जुड़े होने की आशंका

 30 Mar 2021 07:15 PM

मुंबई। बॉलीवुड में ड्रग केस में एक्टर एजाज खान को नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) ने मंगलवार को हिरासत में ले लिया है। एजाज कुछ दिनों से राजस्थान में शूटिंग करने गए थे। मंगलवार को जैसे ही मुंबई लौटे, एनसीबी की टीम ने उन्हें हिरासत में ले लिया। फिलहाल, एनसीबी की एक टीम उन्हें अपने ऑफिस ले जाकर पूछताछ कर रही है। एजाज बिग बॉस-7 में साथी कन्टेस्टेंट के साथ मारपीट के बाद भी सुर्खियों में आए थे। वे इससे पहले साल 2018 में भी गिरफ्तार हो चुके हैं।

एनसीबी सूत्रों की मानें तो एजाज खान और ड्रग्स के मुंबई में सबसे बड़े सिंडीकेट यानी बटाटा गैंग के बीच लिंक मिले हैं। एजाज को पकड़ने के बाद एनसीबी की टीम ने मुंबई के अंधेरी और लोखंडवाला इलाके में छापेमारी भी की है। एजाज से पहले मुंबई के सबसे बड़े ड्रग सप्लायर फारूख बटाटा के बेटे शादाब बटाटा को शनिवार को गिरफ्तार किया गया था। माना जा रहा है कि शादाब से पूछताछ के बाद एजाज को हिरासत में लिया गया है।

2018 में भी हुए थे गिरफ्तार
एजाज खान इससे पहले साल 2018 में भी प्रतिबंधित दवाएं लेने के आरोप में मुंबई पुलिस की नारकोटिक्स सेल द्वारा गिरफ्तार किए गए थे। एक्टर के लिए उस दौरान कहा गया कि जब उन्हें गिरफ्तार किया वे नशे में थे। उनके पास से 8 एक्सटेसी टेबलेट मिली थीं। जिसका वजन 2.3 ग्राम और कीमत 2.2 लाख रुपए थी। इस दौरान नवी मुंबई पुलिस ने एक्टर से दो मोबाइल फोन भी जब्त किये थे। उन्हें जब पकड़ा गया वे एक होटल में पार्टी कर रहे थे।

विधानसभा चुनाव लड़ा और ठडळअ से भी कम मिले वोट विधानसभा चुनावों के दौरान एक्टर एजाज खान ने मुंबई की भायखला सीट से निर्दलीय उम्मीदवार के तौर चुनाव लड़ा था। हालांकि, उन्हें नोट से भी कम वोट मिले और उनकी जमानत जब्त हो गई थी। एजाज खान के खिलाफ मैदान में शिवसेना की प्रत्याशी यामिनी यशवंत जाधव थी, जिन्होंने 20023 वोटों से एजाज को हराया। एजाज को महज 2174 वोट मिले, जबकि नोटा में 2791 वोट पड़े थे। एजाज खान एमआईएम से मुंब्रा विधानसभा के लिए टिकट मांग रहे थे, एमआईएम ने उनको टिकट न देकर दूसरे उम्मीदवार को मैदान में उतार दिया था।

एजाज कई कारणों से पिछले कई दिनों से चर्चा में थे। एजाज चर्चित टीवी रिएलिटी शो बिग बॉस में नजर आ चुके हैं। वह जुलाई में कथित रूप से सांप्रदायिक रूप से संवेदनशील बयान देने के बाद गिरफ्तारी की वजह से चर्चा में रहे थे। एजाज ने झारखंड में तबरेज अंसारी की कथित मॉब लिचिंग के खिलाफ बोलने वाले एक वीडियो ग्रुप का समर्थन किया था।