मध्यप्रदेश सरकार का लव जिहाद कानून अच्छी पहल, रेपिस्ट के लिए सऊदी अरब की तरह हो सख्त कानून: कंगना रनोट

 09 Jan 2021 06:45 PM

(फोटो: गौरव सिंह)

देवेंद्र गोरे: मध्यप्रदेश में लव जिहाद कानून बहुत अच्छा है। इस कानून के पास होने से बहुत सारे लोगों को परेशानी भी हुई है।  कुछ लोगों को यह समझ नहीं आता कि कानून उनके लिए बना है,जो कहते हैं की इस तरह की शादियां  होनी चाहिए और बहुत सी ऐसी शादियां हो भी रही हैं। उनपर यह कानून लागू  नहीं होता है।  यह कानून उनपर ही लागू  होता है जिन्होंने धोखा खाया है।  कुछ लोग पुलिस के पास जाते हैं जो ऐसी शादियों के नाम पर धोखा खाते हैं।  इस तरह का कानून बनना भी चाहिए क्योंकि किसी की भी जाति या धर्म को  बहला  और फुसलाकर परिवर्तित करने से रोका जा सके।  मध्यप्रदेश सरकार का यह कदम बहुत सराहनीय है। यह कहना था फिल्म एक्ट्रेस कंगना रनोट का जो भोपाल फिल्म धाकड़ की शूटिंग के लिए पहुंची है। शनिवार को पर्यटन और संस्कृति मंत्री उषा ठाकुर भी इस मौके पर फिल्म धाकड़ की शूटिंग का क्लैप के साथ शुभारंभ किया।  

देश में कानून  व्यवस्था में सख्त सुधार की जरूरत :
कंगना ने प्रेस वार्ता के दौरान कहा कि महिलाओं पर हो रहे अत्याचार को लेकर मेरे बहुत स्ट्रॉन्ग विचार है।  मुझे लगता है बहुत सारे लोग इनसे सहमति भी नहीं रखते हैं,क्योंकि इस विषय पर बहुत कंट्रोवर्सी हो जाती है।   मेरा मानना है कि हमारे कानून दकियानूसी और पुरानी व्यवस्था पर आधारित है, जिनमें न्याय सिर्फ फाइलों में दबकर रह जाता है। पीड़िता को न्याय मिलने में कईं साल लग जाते हैं। जब तक हम सऊदी अरब जैसा उदाहरण सेट नहीं करेंगे तब तक आरोपियों को सबक नहीं मिलेगा।  वहां महिलाओं पर अत्याचार करने वालों को चौराहे पर लटका दिया जाता है।   

भोपाल शूट के लिए फ्रेंडली जगह:
कंगना ने  भोपाल की तारीफ़ करते हुए कहा  दो साल पहले फिल्म पंगा की शूटिंग के लिए वो भोपाल आई थीं। कोरोना के बाद शूटिंग एक अलग चैलेंज है और उन्होंने मध्यप्रदेश में भी पहले कईं फ़िल्में शूट की है।  मुझे लगता है यह जगह सबसे शूटिंग फ्रेंडली है। जैसा की भोपाल के बारे में कहा जाता है की यह सिटी ऑफ लेक्स है मुझे वापस आकर लगा ही नहीं की यह शहर कभी बंद हुआ था।कोरोना को ध्यान में रखते हुए बहुत सारी चीजें खुल भी गई है जो अच्छी बात है।       

वीडियो में देखें कंगना का पूरा इंटरव्यू: 

वीडियो: प्रतीक टेभंरे